• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Continuation Of Congress MLAs Going To Delhi, Chief Minister Bhupesh Said When No Incident Is Happening Then Why Is It Being Seen Through Political Prism

दिल्ली में शक्ति प्रदर्शन पर बघेल का बयान:CM ने कहा- विधायक तो आते-जाते रहते हैं, छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ ही रहेगा, पंजाब नहीं नहीं हो सकता

रायपुर2 महीने पहले
महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर राजीव भवन में प्रार्थना सभा हुई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रार्थना सभा में शामिल हुए।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में मची खींचतान और विधायकों के दिल्ली जाने का सिलसिला जारी है। इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि मीडिया इसके पीछे क्यों पड़ी है। विधायक तो आते-जाते रहते हैं। कोई राजनीतिक घटनाक्रम हुआ क्या? गए हैं तो आ जाएंगे। हर व्यक्ति स्वतंत्र है। कोई आदमी आए-जाए, जब कोई राजनीतिक घटनाक्रम हो तब इसे जोड़ा जाना चाहिए। जब कोई घटना ही नहीं घट रही है तो इसे राजनीतिक चश्मे से क्यों देखा जा रहा है। मुख्यमंत्री शनिवार को कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में मीडिया के सवालों का जवाब दे रहे थे।

पंजाब की राजनीतिक उठापटक की छत्तीसगढ़ में समानता से जुड़े एक सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा, छत्तीसगढ़, छत्तीसगढ़ ही रहेगा, पंजाब नहीं हो सकता। छत्तीसगढ़ और पंजाब में केवल एक समानता है। दोनों का नाम अंकों के आधार पर बना है। वह 5 नदियों की धरती पंजाब है, यह 36 गढ़ों की धरती छत्तीसगढ़। इसके अलावा दोनों राज्यों में दूसरी कोई समानता नहीं है। इससे पहले मुख्यमंत्री ने राजीव भवन में महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर माल्यार्पण किया। वे यहां प्रार्थना सभा में भी शामिल हुए।

राजीव भवन में भजनों की प्रस्तुति देते कबीर गायक भारती बंधु।
राजीव भवन में भजनों की प्रस्तुति देते कबीर गायक भारती बंधु।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, गांधी जी और शास्त्री जी की जयंती को पूरे देश-दुनिया के लोग बहुत श्रद्धा के साथ मना रहे हैं। गांधी जी के रास्ते पर चलकर न केवल हिंदुस्तान बल्कि विश्व के 17 देशों ने आजादी हासिल की। उसके पहले तक जितने भी युद्ध होते थे उसमें अस्त्र-शस्त्र का प्रयोग होता था, लेकिन गांधी जी ने सत्य और अहिंसा का रास्ता अपनाया। सत्य के माध्यम से उन्होंने लड़ाई लड़ी। गांधी जी का मानना था कि हिंसा के माध्यम से जो जीत हासिल होगी, उसमें शांति स्थापित नहीं होगी। इसलिए, आवश्यक है कि जो भी लड़ाई जीती जाए वह सत्य के माध्यम से हो।

मरकाम बोले, विधायकों के आने-जाने से दिक्कत नहीं

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है, विधायकों के आने-जाने से कोई दिक्कत नहीं है। वे वहां निजी काम से गए हैं। कुछ लोग नेताओं से मिलने भी गए हैं। इसमें किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा, प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर उनका काम संगठन को मजबूत रखना है। वे अपना काम कर रहे हैं।

कांग्रेस विधायक अलग-अलग समूहों में दिल्ली रवाना हो रहे हैं।
कांग्रेस विधायक अलग-अलग समूहों में दिल्ली रवाना हो रहे हैं।

लगातार दिल्ली जा रहे हैं विधायक

कांग्रेस विधायक ममता चंद्राकर, कुंवर सिंह निषाद, विनय भगत और लक्ष्मी ध्रुव आज सुबह रायपुर से दिल्ली रवाना हुए। सभी ने कहा, वे निजी काम से जा रहे हैं। चंद्रपुर विधायक रामकुमार यादव के साथ शिशुपाल शोरी, लालजीत सिंह राठिया, संतराम नेताम, राजमन बेंजाम, डॉ. केके ध्रुव, उत्तरी जांगड़े और किश्मतलाल नंद शुक्रवार शाम को दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। बताया जा रहा है, विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी, विधायक रेखचंद जैन, अनूप नाग, भुनेश्वर बघेल, चिंतामणि महाराज और चक्रधर सिदार जैसे कुछ और विधायक विभिन्न उड़ानों के जरिए दिल्ली जाने के लिए रायपुर पहुंच चुके हैं।

रमन सिंह बोले, यह कुर्सी दौड़ खत्म होनी चाहिए
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने कहा, छत्तीसगढ़ किसके साथ खड़ा है या डोल रहा है यह राहुल गांधी को तय करना है। अब यह कुर्सी दौड़ खत्म होनी चाहिए। हर बार विधायक दिल्ली पहुंच जाते हैं। कहते हैं पर्यटन के लिए आए हैं। ऐसा है तो सभी को पर्यटन के लिए भेज दिया जाना चाहिए। डॉ. सिंह ने कहा, कांग्रेस में नेतृत्व नहीं बचा है। वरिष्ठ नेता ही उसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में ढाई-ढाई साल फॉर्मूले पर जारी है सियासत

खबरें और भी हैं...