पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छत्तीसगढ़ में कोरोना की बंदी:मंत्रालय में विधि विभाग के एक कर्मचारी की मौत, विधानसभा सचिवालय भी 11 अप्रैल तक बंद; वहां 7 अधिकारी-कर्मचारी संक्रमित मिले

रायपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ विधानसभा की पिछली बैठक फरवरी-मार्च में हुई थी। उसके बाद वहां भीड़ तो नहीं है लेकिन सचिवालय का सामान्य कामकाज चल रहा था। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ विधानसभा की पिछली बैठक फरवरी-मार्च में हुई थी। उसके बाद वहां भीड़ तो नहीं है लेकिन सचिवालय का सामान्य कामकाज चल रहा था।

छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी का संक्रमण सरकारी संस्थानों को भी तेजी से अपनी गिरफ्त में ले रहा है। इससे कई विभाग बुरी तरह प्रभावित हैं। मंत्रालय के विधि एवं विधायी कार्य विभाग के कर्मचारी भूपेंद्र केवट की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो गई। इधर छत्तीसगढ़ विधानसभा सचिवालय में 7 अधिकारी-कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं। इसकी वजह से सचिवालय को 11 अप्रैल तक बंद किया जा रहा है।

बताया गया, विधि विभाग में सहायक ग्रेड-2 रहे भूपेंद्र केवट केवल 38 वर्ष के थे। वे पिछले सप्ताह कोरोना संक्रमित पाये गये थे। तकलीफ बढ़ने पर उन्हें रायपुर के कबीरनगर स्थित एक निजी अस्पताल की ICU में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने उनके फेफड़ों में संक्रमण बताया था। उनको ऑक्सीजन लगी थी। ऑक्सीजन निकालते ही उनकी सांस फूलने लग रही थी। सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई।

विधानसभा के अपर सचिव ने मंगलवार को विधानसभा सचिवालय को बंद करने का आदेश जारी कर दिया। इसके मुताबिक सचिवालय में कोरोना संक्रमित अधिकारियों-कर्मचारियों की संख्या में वृद्धि होने की वजह से ऐसा फैसला हुआ है। सचिवालय के बंदी का आदेश कल से लागू होगा। सचिवालय 11 अप्रैल तक बंद रहेगा। इस दौरान सचिवालय परिसर को सैनिटाइज भी किया जाना है। पिछले साल जून में कांग्रेस विधायक दलेश्वर साहू के संक्रमण की चपेट में आ जाने के बाद सचिवालय को कुछ दिनों के लिए बंद किया गया था।

श्रम आयुक्त कार्यालय भी सील

बताया जा रहा है कि इंद्रावती भवन स्थित श्रम आयुक्त कार्यालय में भी पांच से अधिक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसकी वजह से श्रम आयुक्त कार्यालय को सील कर दिया गया है। कार्यालय अब 11 अप्रैल तक बंद रहेगा। मंत्रालय और संचालनालय के दफ्तरों में कर्मचारियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ काम करने का आदेश है। आरोप है कि श्रम आयुक्त कार्यालय में इस रोस्टर का पालन नहीं हो रहा था।

मंत्रालय में तेजी से फैल रहा कोरोना

छत्तीसगढ़ मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के महेंद्र सिंह राजपूत ने बताया, मंत्रालय में कभी भी कोरोना विस्फोट हो सकता है। NIC में 8 अधिकारियों-कर्मचारियों को कोरोना हो चुका है। विधि विभाग की एक और कर्मचारी पॉजिटिव पाई गई हैं। दूसरे विभागों में भी यही स्थिति है। इसके बाद भी इन विभागों को न तो बंद किया गया है और न ही सेनिटाइज किया गया है।

GAD सचिव से मिले कर्मचारी

मंत्रालय कर्मचारियों ने आज सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव डीडी सिंह से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौंपा। महेंद्र सिंह राजपूत ने बताया, ज्ञापन में कर्मचारियों ने मंत्रालय परिसर में कोरोना जांच की व्यवस्था करने। परिसर को सेनिटाइज करने। सभी सेक्सन में थर्मल स्केनर और सेनिटाइजर की व्यवस्था करने। बाहरी लोगों को प्रवेश प्रतिबंधित करने। 50 प्रतिशत उपस्थिति का रोस्ट कड़ाई से लागू कराने। मंत्रालय कर्मचारियों-अधिकारियों के लिये अलग बस की व्यवस्था करने। और सभी कर्मचारियों का टीकाकरण अनिवार्य रूप से कराने की मांग की गई है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

और पढ़ें