केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की हालात की समीक्षा:छत्तीसगढ़ ने बताया- ICU में 100% ऑक्यूपेंसी, केंद्र सरकार से 100 प्री फैब्रिकेटेड ICU यूनिट मांगी

रायपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ वर्चुअल बैठक में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने महामारी की स्थिति बताते हुये जरूरी सुझाव भी दिये। - Dainik Bhaskar
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ वर्चुअल बैठक में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने महामारी की स्थिति बताते हुये जरूरी सुझाव भी दिये।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने आज छत्तीसगढ़ सहित 11 प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ कोरोना के हालात की समीक्षा की। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया, उनके यहां ICU पूरी तरह भर गये हैं। उन्होंने केंद्र सरकार से 100 प्री फैब्रिक्रेटेड ICU उपलब्ध कराने की मांग की।

प्रदेश में कोरोना की स्थिति की जानकारी साझा करते हुए टीएस सिंहदेव ने कहा, प्रदेश की औसत संक्रमण दर 30% है। प्रदेश के 28 में से 13 जिलों में यह 20% से कम लेकिन 8 जिलों में 40% से अधिक हो चुकी है। अभी एक्टिव मरीजों की संख्या 1,24,000 हो चुकी है। उन्होंने बताया, जल्दी ही इसके 1.5 लाख के पार अथवा 2 लाख के आसपास होने का अनुमान है।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय आंकड़ों के अनुसार छत्तीसगढ़ में करीब 90% लोग होम आइसोलेशन में हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि होम आइसोलेशन में 80% लोग ही रहें। ऐसे में 20 प्रतिशत आबादी के लिए अस्पताल में सुविधाओं का प्रबंध करना होगा। यानी अगर 2 लाख मरीजों की स्थिति आती है तो कुल 40 हजार कुल बिस्तरों की जरूरत होगी, जिसमें ऑक्सीजन सुविधा वाले बेड भी होंगे। सिंहदेव ने कहा, 200 प्री-फैबरीकेटेड यूनिट से 100 प्री-फैबरीकेटेड यूनिट केंद्र सरकार उपलब्ध करवाने पर विचार करे, जिससे कम से कम समय में ICU के बिस्तरों का हम निर्माण कर सकें।

45 वर्ष से कम के लोगों को वैक्सीन लगाने की छूट मांगी

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया, प्रदेश की आबादी के 14.6% हिस्से को वैक्सीन लग चुकी है। 20% आबादी को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा, जिन राज्यों में उनकी आबादी के 16-17% हिस्से का टीकाकरण हो जाता है, उनमें 45 वर्ष से कम उम्र के लोगों को टीकाकरण की अनुमति दी जाए। उन्होंने कहा, जो राज्य वैक्सीनेशन का यह लक्ष्य हासिल कर ले रहे हैं, उनको अगली कड़ी के आबादी की वैक्सीनेशन के तरफ बढ़ाने की अनुमति प्रदान करनी चाहिए क्योंकि दबाव बहुत ज्यादा है।

खबरें और भी हैं...