पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पहली बार 94 मौतें प्रदेश में 10652 नए केस:छत्तीसगढ़ में कोरोना के मरीज चार लाख के पार; बड़ी चिंता, रायपुर में अब शव रखने के लिए जगह नहीं

रायपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सवाल: पता ही नहीं चला, कैसे पॉजिटिव हुए
  • नसीहत: जितना ज्यादा हो सके, अपना ध्यान रखें

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों की तादाद 386 दिन में 4 लाख के पार हो गई है। गुरुवार को प्रदेश में कोरोना के 10652 नए मरीज मिले, जिसमें रायपुर के 2330 नए पॉजिटिव भी हैं। पिछले 24 घंटे में राजधानी की 38 समेत 94 मौत हुई है। पहली बार इतनी मौतें हुई हैं।

इस साल 28 जनवरी को प्रदेश में कोरोना मरीजों की तादाद 3 लाख के पार हुई थी। इसके बाद 70 दिन में ही एक लाख से ज्यादा मरीज बढ़ गए हैं। इसमें भी 50 हजार से ज्यादा मरीज केवल 1 से 8 अप्रैल के बीच बढ़े, यानी एक हफ्ते में 50 हजार से अधिक संक्रमित मिल चुके हैं। कोरोना की पहली लहर में 18 मार्च को पहला मरीज मिलने के बाद 26 सितंबर को मरीजों की संख्या प्रदेश में एक लाख के पार हुई। इसके बाद केवल दो माह के भीतर यानी नवंबर में ही यह 2 लाख के पार पहुंची। नवंबर के बाद मार्च के मध्य तक प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या उतनी तेजी से नहीं बढ़ी, जितनी हाल के दिनों में बढ़ी है।3 करोड़ की आबादी वाले छत्तीसगढ़ में अब तक 60 लाख से ज्यादा लोगो की कोरोना जांच हो चुकी है। जिसमें से 6.66 यानी करीब 7 प्रतिशत लोग पॉजिटिव निकले हैं। आबादी के लिहाज से अब तक प्रदेश की 1.33 प्रतिशत आबादी संक्रमण की जद में आ चुकी है।

  • पहला मरीज मिला 18 मार्च 2020 में और 26 सितंबर को हो गए पूरे एक लाख मरीज
  • .यानि कुल 13 महीनों के पहले 7 महीनों में 1 लाख और बाद के 6 महीनों में 3 लाख मरीज

इसलिए भी सावधानी जरूरी ठीक होने की दर 98 से घटकर हुई 82%
मरीज बढ़ने के कारण रिकवरी रेट अब 82% पर आ गया है। केवल दो माह के अंदर रिकवरी रेट 98% से गिरकर 82% पर आ गया है।

राहत ये: संक्रमितों से 9 गुना लोगों को टीके लगे
प्रदेश में कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के बीच सबसे बड़ी राहत की खबर यही है कि प्रदेश में भले ही अब तक 4 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं। लेकिन इस तादाद के 9 गुना से ज्यादा लोगो यानी 35 लाख से अधिक संख्या में अब तक कोरोना टीके लग चुके हैं। अगर इस आंकड़े की तुलना प्रदेश की कुल आबादी 3 करोड़ से करके देखी जाए तो हमारे यहां 12 प्रतिशत से अधिक आबादी का वैक्सीनेशन हो चुका है।

आबादी छत्तीसगढ़ से ज्यादा, पर केस कम
अगर आबादी और केस के हिसाब से देखा जाए तो छत्तीसगढ़ कई बड़े प्रदेशों से आगे निकल गया है। वहां आबादी के मुताबिक केस कम हैं। पिछले 8 दिनों में केस बहुत ज्यादा बढ़े हैं।

बड़ी चिंता: रायपुर में अब शव रखने के लिए जगह नहीं
अंबेडकर अस्पताल स्थित मर्चूरी के बाहर कोरोना से मौत के बाद मरीजों के शवों को डिस्पोज व अंतिम संस्कार का इंतजार है। राजधानी में पिछले 5 दिनों में कोरोना से 100 से ज्यादा मरीजों की मौत हुई है। ये सभी रायपुर के निवासी हैं।

इसके अलावा दूसरे जिलों के मरीजों की मौत अंबेडकर में होती है, जिसके शव मर्चूरी में रखवाया जाता है। गुरुवार को 20 से ज्यादा शव रखे हुए थे। सामान्य शव व कोरोना वाले शवों के लिए अलग मर्चूरी की व्यवस्था है। प्रोटाेकाल बदलने के बावजूद मर्चूरी में शवों का अंबार लगा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग ने 5 सितंबर को बिना रिपोर्ट का इंतजार किए संदिग्ध कोरोना मरीज के शवों को डिस्पोज कराने का आदेश जारी किया था। ताकि मर्चूरी में शवों का अंबार न लगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें