कोरोना और छत्तीसगढ़:फिलहाल लॉकडाउन के मूड में नहीं सरकार, CM बघेल बोले- इससे नुकसान होता है, सभी लोग हाथ धोएं, मास्क लगाएं, सुरक्षा के नियमों का पालन करें

रायपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश में पिछले साल मार्च के महीने में लॉकडाउन के हालात बने थे। जिला प्रशासन को सरकार ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवाने की हिदायत दे रखी है। - Dainik Bhaskar
प्रदेश में पिछले साल मार्च के महीने में लॉकडाउन के हालात बने थे। जिला प्रशासन को सरकार ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवाने की हिदायत दे रखी है।
  • रायपुर के हैलीपैड में सिरपुर रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री ने दिया बयान
  • सिरपुर में आयोजित बौद्ध महोत्सव में पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

क्या छत्तीसगढ़ में भी लॉकडाउन लग सकता है ? इस सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने जो कुछ कहा उससे लगता है कि यहां की सरकार फिलहाल लॉकडाउन के मूड में नहीं है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसे लेकर कहा कि लॉकडाउन से नुकसान होता है। कोरोना के केस बढ़े हैं, मैं लोगों से मीडिया के माध्यम से अपील करना चाहता हूं कि कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग के गाइड लाइन का सख्ती से पालन करें।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि अगर हम मास्क लगाएंगे तो कोरोना उतनी बड़ी बीमारी नहीं है कि उससे बचा नहीं जा सकता है। मास्क लगाएं, हाथ धोएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, तो कोरोना से बचाव हो सकता है। लॉकडाउन से सिर्फ और सिर्फ गरीबों का नुकसान होता है, व्यापारियों को नुकसान होता है और आमलोगों को आर्थिक परेशानी होती है, इसलिए अगर हम कोरोना के नियमों का पालन करें तो लॉकडाउन से बचा जा सकता है। ये बातें CM भूपेश बघेल ने रायुपर के हैलीपैड पर कही। इसके बाद वो सिरपुर के लिए रवाना हो गए।

छत्तीसगढ़ में कोरोना की स्थिति
शनिवार रात तक की आंकड़ों पर गौर करें तो छत्तीसगढ़ में कोरोना के 543 नए मरीज मिले, 3 लोगों की मौत हो गई। शनिवार के दिन रायपुर से 206 नए संक्रमित मिले हैं। शुक्रवार को रायुपर में 121 नए मरीज मिले थे। गुरुवार को रायपुर में ये आंकड़ा 155 था। अब छत्तीसगढ़ में कुल संक्रमितों की संख्या 316854 है। 3770 मरीज एक्टिव हैं। अब तक 3886 लोगों की मौत हाे चुकी है।

सिरपुर को मिली सौगात
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सिरपुर में चल रहे बौद्ध महोत्सव में पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने सिरपुर के विकास के लिए 211.52 लाख के कार्यों की घोषणा की। इनमें 25 लाख रुपए की लागत से गेट का निर्माण, 73 लाख रुपए की लागत से सिरपुर मार्ग पर 4 तालाबों का सौंदर्यीकरण, 50 लाख रुपए की लागत से सिरपुर मार्ग पर 6 उपवन निर्माण, सिरपुर के रायकेरा तालाब के लिए 25 लाख रुपए और कोडार-पर्यटन (टैटिंग एवं बोटिंग) के लिए राशि की घोषणा की।

उन्होंने इस मौके पर तथागत संदेश मासिक पत्रिका सिरपुर बौद्ध विशेषांक का विमोचन किया और आर्टिस्टों द्वारा बनाई गई पेंटिंग एग्जिविशन का अवलोकन किया और पेंटिंग की सराहना की। मुख्यमंत्री ने भदंत नागार्जुन सुरई ससई और आचार्य श्री विचार साहेब का चींवर भेंट कर सम्मानित किया। इस मौके पर छत्तीसगढ़ हेरिटेज एंड कल्चरल फॉउंडेशन के आयोजकों द्वारा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को शोध संगोष्ठी पर आधारित स्मारिका भेंट की गई।

खबरें और भी हैं...