पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भर्ती पर रोक नहीं, पर पीएससी-व्यापमं दो साल से खाली:कोरोना ने रोकीं 16 हजार से ज्यादा नौकरियांसिर्फ शिक्षा विभाग में ही 12 हजार पद खाली

रायपुर2 महीने पहलेलेखक: राकेश पाण्डेय
  • कॉपी लिंक

कोरोना के कारण राज्य में 16 हजार से अधिक सरकारी पदों पर भर्तियां रुकी हुई हैं। इसमें अकेले शिक्षा विभाग में 11403 पदों पर भर्ती होनी है, जबकि पुलिस विभाग में 3600 और शेष दूसरे अन्य विभागों में भर्तियां होनी है। इस साल बजट से पहले ही प्रदेश के 54 विभागों ने 15 हजार पदों के लिए सरकार के पास प्रस्ताव भेजा था, जिसमें से लगभग साढ़े चार हजार पदों पर नियुक्ति को ही वित्त से मंजूरी मिल चुकी है।

आने वाले समय में इन पदों पर भर्ती की कवायद शुरू होगी लेकिन कोरोना के कारण अभी कुछ विभागों को छोड़कर सभी जगह प्रक्रिया रुकी हुई है। परीक्षाओं को आयोजित करने वाली पीएससी, व्यापमं जैसी एजेंसियों को भी सरकार के आदेश का इंतजार है। राज्य में होने वाली इन भर्तियों का प्रदेश के बेरोजगारों को बेसब्री से इंतजार है। राज्य सरकार के आंकड़ों के अनुसार फिलहाल प्रदेश में 22 लाख शिक्षित बेरोजगार हैं। इन सभी को भर्ती प्रक्रियाओं के शुरू होने का इंतजार है। बता दें कि व्यापमं हर साल विभिन्न विभागों के लिए 20 भर्ती परीक्षाएं आयोजित करता है।

इन विभागों में होनी है भर्तियां

  • 12124 शिक्षा विभाग में
  • 3600 पुलिस प्रशासन में
  • 202 राजस्व व विधि में
  • 110 स्वास्थ्य विभाग में

शिक्षा विभाग में भी पद खाली
शिक्षा विभाग में 14580 पदों पर नियुक्तियां की जानी थीं। इसमें से 3177 लेक्चरर के पदों पर नियुक्ति दी गई है। प्रदेश में 11 हजार 403 पदों पर भर्ती होनी है। यूटीडी व पीटीआई के 5500 और बस्तर, सरगुजा और कोरबा में सहायक शिक्षक के 2500 शामिल हैं। इसके अलावा पुलिस बल में 36 सौ से ज्यादा पदों पर भर्ती होनी है। इसमें बस्तर संभाग में बस्तर फाइटर्स के 28 साै के अलावा पीएचक्यू और विभिन्न जिलों के थानों में 818, शिक्षा विभाग में शिक्षकों के अलावा दूसरे अन्य 721, राजस्व व विधि विभाग में 202 और स्वास्थ्य में 110 पदों पर नियुक्तियां की जानी हैं।

व्यापमं को नहीं मिला इंडेंट
कोरोना का असर इंटर और ग्रेजुएट की परीक्षा पास कर चुके युवाओं की नौकरी पर भी विपरीत असर पड़ा है। क्लास वन परीक्षा से लेकर तृतीय श्रेणी के विभिन्न पदों की भर्त्तियां रुकी हुई हैं। सरकारी विभागों में विभिन्न पदों को भरने के लिए पीएससी व व्यावसायिक परीक्षा मंडल भर्ती परीक्षाएं आयोजित करता है लेकिन कोरोना के कारण पिछले एक साल से भर्ती परीक्षाएं रूकी हुई हैं। पहले से जिन परीक्षाओं की प्रक्रिया चल रही थीं, उसे ही पूरा करने में 15 महीने का समय बीत गया। इस बीच नए परीक्षाओं के लिए दोनों एजेंसियों को राज्य के विभिन्न विभागों से मिलने वाले इंडेंट का इंतजार है।

एक हजार से ज्यादा अनुकंपा नियुक्तियां
​​​​​​​
पिछले दिनों प्रदेश भर में एक हजार से ज्यादा पदों पर अनुकंपा नियुक्तियां हुई हैं। इसमें अकेले स्कूल शिक्षा विभाग में 834, जिला प्रशासन बिलासपुर में 42, रायपुर में 9, गरियाबंद में 6 और मंत्रालय में 3 पदों पर नियुक्तियां हुई हैं। इसके अलावा दुर्ग जिले के सहकारी बैंक में 6 लोगों की नियुक्ति को मंजूरी मिली है। हालांकि, बस्तर जिले में 960 से ज्यादा नियुक्तियां अटकी हुई हैं। इसके लिए हजारों युवाओं ने आवेदन किया था।

स्कूल से लेकर राजस्व विभाग में होनी है भर्ती
स्कूल शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा में 721, 6 नए महाविद्यालय में 204, 12 सरकारी डिग्री कालेज में नए संकाय के 52, बीपीएड पाठ्यक्रम में 11, 12 सरकारी डिग्री कालेज में पीजी संकाय के लिए 62, आदर्श महाविद्यालय में 34, बालोद- चांपा में डिग्री कालेज में 11, नया रायपुर में विश्व स्तरीय शिक्षण संस्थान में 5, बीएड काॅलेज में 19, आत्मानंद स्कूल में 43, विभिन्न शालाओं के उन्नयन में 36 पदों पर भर्ती की जानी है। इसके अलावा 11 नए तहसील बनने हैं। इसके लिए कार्यालयों में सेटअप के अनुसार 154 और 5 नए अनुभाग कार्यालयों में 35 और विधि विभाग में व्यवहार न्यायाधीश के 13 पदों पर भर्ती की जानी है।

मंत्रालय में 2013 से नहीं हुई भर्तियांमंत्रालय में पिछले 8 सालों से कोई भर्ती नहीं हुई है। अंतिम बार 2013 में लिपिक वर्ग में 123 लोगों की भर्ती हुई थी। ये नियुक्तियां भी मंत्रियों के को- टर्मिनस कोटे से की गई थीं।

खाली पदों की जानकारी मांगीराज्य सरकार से रिक्त पदों की जानकारी मांगी गई है, लेकिन अभी तक विभागों से रिक्त पदों का इंडेंट नहीं मिला है। विभागों से जानकारी मिलने के बाद भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।-आरती वासनिक, परीक्षा कंट्रोलर, पीएससी

खबरें और भी हैं...