• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Corona Update; Interstate Boundaries Of Chhattisgarh Will Now Be Sealed, CM Directed To Check Every Person In Villages With High Wages Of Corona

छत्तीसगढ़ की अंतरराज्यीय सीमाएं अब सील होंगी:बाहर से आने वाले प्रवासियों की चेकपाइंट पर ही टेस्टिंग, अधिक सक्रमण वाले गांवों में हर व्यक्ति की जांच का निर्देश

रायपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार शाम प्रदेश में कोरोना की स्थिति और उसके रोकथाम के उपायों की समीक्षा की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जिला कलेक्टरों से हालात की जानकारी लेने के बाद मुख्यमंत्री ने सभी जिलों से लगने वाली अंतरराज्यीय सीमा को सील करने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा, जिन ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा संक्रमण के मामले आ रहे हैं, वहां गांवों में हर व्यक्ति की जांच के लिए विशेष अभियान चलाया जाए। उन्हे अलग रखने और उनकी मॉनीटरिंग की व्यवस्था की जाए। मुख्यमंत्री ने खदान और औद्योगिक क्षेत्रों में सघन टेस्टिंग अभियान चलाने के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश देते हुए कहा कि चौक-चौराहों में भीड़ एकत्रित न हो। एयरपोर्ट के साथ-साथ रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्डों और अंतरराज्यीय सीमाओं पर बाहर से आने वाले यात्रियों की कड़ाई से टेस्टिंग किया जाए। आवश्यकता पड़े तो उन्हें क्वारेंटीन सेंटर, आइसोलेशन सेंटर अथवा अस्पताल भेजने की व्यवस्था की जाए।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल बैठक में राज्य के 10 जिलों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम, अस्पतालों में इलाज के प्रबंध की समीक्षा की। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव भी बैठक में जुड़े।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल बैठक में राज्य के 10 जिलों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम, अस्पतालों में इलाज के प्रबंध की समीक्षा की। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव भी बैठक में जुड़े।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए चिकित्सा स्टॉफ, शासन-प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी, विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि बड़ी मेहनत के साथ काम कर रहे हैं। ऐसे में यह जरूरी है कि बाहर से आने वाले प्रवासियों की चेकपाइंट पर ही टेस्टिंग की जाए। उनमें से संक्रमित लोगों को चिन्हित कर उनके इलाज की समुचित व्यवस्था की जाए, ताकि इन लोगों से संक्रमण न फैलने पाए।

मुख्यमंत्री ने कहा, वायरस के इस स्ट्रेन से ज्यादा तेजी से संक्रमण फैल रहा है। मरीजों को ठीक होने में भी ज्यादा समय लग रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए जिलों में मरीजों की तत्परता से इलाज सुविधा के लिए हर आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करें। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी जिलों में आवश्यकता के अनुसार सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

दुष्प्रचार के खिलाफ सख्ती के निर्देश

मुख्यमंत्री ने दुष्प्रचार करने वालों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा, यह सुनिश्चित किया जाए कि हेल्थ वर्कर और फ्रंटलाइन वर्कर संक्रमण से बचने के लिए कोविड-19 की गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करें। साथ ही हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर और सामाजिक संगठनों द्वारा किए जा रहे सराहनीय कार्यों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। जिससे नकारात्मक माहौल न बनने पाए।

औद्योगिक और सामाजिक संगठनों के संपर्क में रहने को कहा

मुख्यमंत्री ने कहा, सामाजिक संगठन, उद्योगपति और व्यापार जगत के लोग भी संकट के इस समय में प्रशासन के साथ सहयोग कर रहे हैं। हम लोग लगातार उनके संपर्क में हैं, कलेक्टर भी समय-समय पर विभिन्न वर्गों के लोगों से संवाद स्थापित करते रहें। यह भी ध्यान रखा जाए कि आम जनता की आवश्यक जरूरतों की पूर्ति में कोई व्यवधान न आने पाए।

कालाबाजारी रोकने के लिए सख्ती

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को टेस्टिंग किट सहित जरूरी मेडिकल उपकरणों, ऑक्सीजन सिलेण्डर, रेमडेसिविर सहित आवश्यक दवाओं की उपलब्धता को निरंतर बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने आवश्यक दवाओं की कालाबाजारी पर सख्ती से रोक लगाने को भी कहा। सभी जिलों में जरूरत के अनुसार मेडिकल स्टॉफ की भर्ती तत्काल करने को भी कहा जाए।

खबरें और भी हैं...