छत्तीसगढ़ पहुंची कोरोना वैक्सीन की नई खेप:इस बार कोवीशील्ड के 7.55 लाख डोज आये, टीकों की कमी से जूझ रहा था प्रदेश; 1 अप्रेल से 45 साल से ज्यादा के सभी लोगों को लगनी है वैक्सीन

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तय समय से पहले रायपुर हवाई अड्‌डे पर कोविशील्ड वैक्सीन  65 बक्से पहुंचे। राज्य सरकार ने 16 दिन पहले ही 12 लाख वैक्सीन की मांग भेजी थी। - Dainik Bhaskar
तय समय से पहले रायपुर हवाई अड्‌डे पर कोविशील्ड वैक्सीन 65 बक्से पहुंचे। राज्य सरकार ने 16 दिन पहले ही 12 लाख वैक्सीन की मांग भेजी थी।
  • अभी तक की एक बार में सबसे अधिक कोरोना वैक्सीन की खेप
  • 24 मार्च को भी आई थी कोवीशील्ड वैक्सीन

केंद्र सरकार ने आज कोरोना वैक्सीन की नई खेप छत्तीसगढ़ पहुंचा दी है। इस खेप में कोवीशील्ड वैक्सीन के 7 लाख 55 हजार डोज आये हैं। इसको अब तक छत्तीसगढ़ पहुंची सबसे बड़ी खेप बताया जा रहा है। इस नई खेप के आ जाने से छत्तीसगढ़ में कोरोना टीकाकरण की घटी हुई रफ्तार एक बार फिर गति पकड़ेगी।

छत्तीसगढ़ में करीब 1900 केंद्रों पर चल रहा टीकाकरण अभियान पिछले सप्ताह तक धीमा पड़ता दिख रहा था। कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुये सरकार इसे एक लाख टीकाकरण प्रतिदिन करने की तैयारी में थी, लेकिन टीकों की कमी की वजह से यह प्रभावित था। कई सप्ताह बाद 24 मार्च को सरकार को कोवीशील्ड वैक्सीन की एक खेप मिली। इसमें 5 लाख 26 हजार डोज थे। उसके बाद से टीकाकरण अभियान को राहत मिली। शनिवार को 1815 केंद्रों पर एक लाख 14 हजार 805 लोगों को कोरोना का यह टीका लगा था।

प्रदेश के राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर अमर सिंह ठाकुर ने बताया, आज 7 लाख 55 वैक्सीन का डोज मिला है। इसे हवाई अड्‌डे से लाकर राज्य वैक्सीन भंडार में सुरक्षित रख लिया गया है। जिलों को अभी दो दिन पहले ही एक खेप भेजी गई थी। फिर भी सभी को कह दिया गया है, सुविधा और मांग अनुसार वे वैक्सीन यहां से ले जाएं। एक-दो दिनों में उसका परिवहन शुरू हो जाएगा। डॉ. ठाकुर ने कहा, नया खेप आ जाने के बाद प्रदेश में टीकाकरण की रफ्तार को एक लाख प्रतिदिन से अधिक रखना संभव हो पाएगा। बताया गया कि अभी तक प्रदेश में 18 लाख डोज का इस्तेमाल हो चुका है।

एक अप्रैल से अधिक की जरूरत

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर ने बताया, एक अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक के सभी व्यक्तियों को टीका लगना है। ऐसे में हमें अधिक केंद्र बनाने पड़ेंगे। अभी करीब 1800-1900 केंद्रों पर टीकाकरण हो रहा है। इसको बढ़ाना होगा। हमारे पास 8 हजार प्रशिक्षित कर्मचारी हैं। जिलाें में स्थानीय प्रशिक्षण देकर इनकी संख्या बढ़ाई भी जा रही है। अब अधिक मात्रा में टीकों की जरूरत पड़ेगी। केंद्र सरकार को टीकों की खेप जल्दी भेजनी होगी।

पहली बार एक दिन में रिकॉर्ड 1.14 लाख को वैक्सीन लगी

प्रदेश में शनिवार को पहली बार एक ही दिन में रिकॉर्ड 1 लाख 14 हजार लोगों को वैक्सीन लगायी गई। अब तक औसतन 70-80 हजार ही टीके लगाए जा रहे थे। अब कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद वैक्सीन पर फोकस बढ़ाया गया है।

खबरें और भी हैं...