• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Raipur Bhilai (Chhattisgarh) Coronavirus Cases Update | Chhattisgarh Corona Cases District Wise Today News; Korba Durg Bilaspur Rajnandgaon

छत्तीसगढ़ कोरोना LIVE:प्रदेश में 24 घंटे में 4 की मौत, इनमें 3 रायपुर के; 4120 पॉजिटिव मिले, रायपुर में 1185 संक्रमित

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमित मरीजों के आंकड़े बढ़ते ही जा रहे है। राज्य में 24 घंटे में 4120 पॉजिटिव मिले है। रायपुर में 1185 संक्रमित पाए गए है। प्रदेश में कुल 4 मौतों में से तीन अकेले रायपुर में ही हुई है।इधर, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सोमवार को अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना की जांच तेज करें। रोज अधिक से अधिक सैंपल की जांच हो। इस समय करीब 39 हजार सैंपल रोज टेस्ट किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में, हमारे पास लगभग 5,000 सामान्य बिस्तर और लगभग 8,500 ऑक्सीजन बिस्तर हैं। ऑक्सीजन, एचडीयू, आईसीयू, वेंटिलेटर सपोर्ट वाले बेड की संख्या करीब 5,000 है। पीक टाइम में प्रदेश में 2 लाख एक्टिव केस हो सकते हैं। बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव में सभा, रोड शो, रैली, जुलूस पर प्रतिबंध लगा दिया है।

मंत्रालय और सरकारी दफ्तरों में एक तिहाई कर्मचारियों की ही उपस्थिति

इधर, प्रदेश में कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए मंत्रालय और सरकारी दफ्तरों में अब एक तिहाई कर्मचारियों की उपस्थिति ही रहेगी। दफ्तरों में रोस्टर बनाकर अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। वहीं सबडिवीजन अधिकारी और उससे वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति पूरी रहेगी। वहीं जांजगीर में सक्ती थाना के 9 पुलिसकर्मी पॉजिटिव मिले हैं। थाने के टीआई, 2 एएसआई और 6 आरक्षक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। भाजपा नेता और पूर्व आईएएस ओपी चौधरी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। वे आइसोलेशन में रहकर इलाज करा रहे हैं।

बिलासपुर में UAE से लौटे पहले ओमिक्रॉन पॉजिटिव को लेकर राहत की खबर आई है। उन्हें किसी तरह से कोई दिक्कत नहीं है। वहीं, उनके संपर्क में रहने वाले परिवार के पांच सदस्यों की जीनोम सीक्वेंसिंग रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। अभी तक देखने में आ रहा है कि शुरुआती तीन दिन तक बुखार, सिर दर्द और बदन दर्द के साथ गले में खराश या जुकाम जैसे सामान्य लक्षण नजर आ रहे हैं।

अधिकतर लोगों में ऐसे लक्षण भी नहीं दिख रहे है और बेहद सामान्य दिख रहे हैं। ऐसे में बहुत पैनिक होने की जरूरत नहीं है। सावधानी बरतकर संक्रमण बढ़ने से रोकने की कोशिश करनी है। फिलहाल छत्तीसगढ़ में रोजाना 50 हजार लोगों की जांच करने की कोशिश की जा रही है, ताकि समय पर संक्रमण की पहचान की जा सके।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो चुका है। इसके कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन होने के पूरे आसार हैं। आधिकारिक पुष्टि के लिए रायगढ़ नवोदय विद्यालय और IIT भिलाई जैसे क्लस्टरों से जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए नमूनों की रिपोर्ट का इंतजार है। विशेषज्ञों का कहना है कि अभी तक यह वायरस कम खतरनाक दिख रहा है। ऐसे में अधिकतर संक्रमितों को बिना लक्षणों वाले या केवल बुखार और बदन दर्द की शिकायत आ रही है। 96-97% मरीज होम आइसोलेशन में ही ठीक हो जा रहे हैं।

अधिकारियों ने बताया, ओमिक्रॉन और किसी दूसरे वैरिएंट की पहचान के लिए हर महीने जिलों में लिए गए कुल नमूनों का 5% भुवनेश्वर लैब में भेजा जाता है। विदेशों से लौटकर छत्तीसगढ़ आए लोगों के सैंपल भी वहां भेजे गए हैं। एक क्लस्टर में बड़ी संख्या में मरीज मिलने पर उनके नमूने भी भुवनेश्वर भेजे जा रहे हैं।

संडे इफेक्ट, 31 हजार जांच ही हो पाई

स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को केवल 31 हजार 71 नमूनों की जांच हुई। वहीं 2502 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर 8.05% है। अब प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 15 हजार 464 हो गई है। सबसे अधिक 4803 मरीज रायपुर जिले में ही हैं। उसके बाद बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़ और दुर्ग का नंबर है।

रविवार को दो मरीजों की मौत हुई थी

जांजगीर-चांपा और बस्तर में रविवार को दो मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो गई। इन दोनों को कोरोना के अलावा दूसरी भी गंभीर बीमारियां थीं। इनको मिलाकर कोरोना से अब तक 13 हजार 615 लोगों की जान जा चुकी है। छत्तीसगढ़ में मार्च 2020 से अब तक कुल 10 लाख 23 हजार 313 लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

रायपुर में 55 कंटेनमेंट जोन

रायपुर इस समय कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है। जिले भर में 55 इमारतों में 2 से अधिक लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। जिसके बाद इनको सील कर कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। इनमें से 52 कंटेनमेंट जोन रायपुर नगर निगम क्षेत्र में ही हैं। रविवार को रायपुर में 900 नए मरीज मिले हैं।

कर्मचारी संगठनों ने कहा-जिला कार्यालयों में भी एक तिहाई कर्मचारियों को ही बुलाया जाए
रायपुर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने सरकारी कामकाज को भी प्रभावित करना शुरू कर दिया है। सरकार ने मंत्रालय और संचालनालय कार्यालयों में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश रोक दिया है। वहीं रोजाना के कामकाज के लिए एक तिहाई कर्मचारियों को ही बुलाने का आदेश जारी किया है। इधर, कर्मचारी संगठन केवल 50% कर्मचारियों को ही बुलाने की मांग कर रहे हैं। कर्मचारी संगठन जिला कार्यालयों के लिए भी ऐसे प्रतिबंध की मांग कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण ने मंत्रालय और संचालनालय को भी अपनी चपेट में लिया है। बताया जा रहा है, मंत्रालय में विधि विभाग, राष्ट्रीय सूचना केंद्र (NIC) और बैंक के कई कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं। उन कर्मचारियों को छुट्‌टी दी गई और वे होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे हैं।

CG में RTPCR रिपोर्ट के लिए लंबी वेटिंग:कम्युनिटी स्प्रेड की स्टेज में कोरोना संक्रमण, रोज 46000 सैंपल; क्षमता सिर्फ 10500 जांचों की ही

खबरें और भी हैं...