पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Raipur Bhilai (Chhattisgarh) Coronavirus Cases; Lockdown Update | Chhattisgarh Corona Cases District Wise Today News; Korba Durg Bilaspur Rajnandgaon CM Bhupesh Baghel

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छत्तीसगढ़ में कोरोना LIVE:बीजापुर जिले में 16 से 26 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा; भिलाई में 10 दिन में 5 भाजपा नेताओं की मौत

रायपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर जारी है। इस बीच बीजापुर जिले में 16 अप्रैल से 26 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है। इस दौरान जरूरी सेवाओं को छूट रहेगी। उधर, भिलाई में पिछले 10 दिनों में 5 भाजपा नेताओं की मौत हो चुकी है। भिलाई में ही निजी अस्पताल में भर्ती एक युवक ने कोरोना रिपोर्ट में देरी के चलते बुधवार की रात फर्स्ट फ्लोर से कूदकर जान दे दी।

वहीं, प्रदेश में गुरुवार से आवश्यक सेवा संधारण और विच्छिन्नता निवारण कानून (ESMA) लागू कर दिया गया है। यह कानून स्वास्थ्य, स्वच्छता, बिजली, जल आपूर्ति और सुरक्षा सेवा में लगे कर्मचारियों पर लागू होगा। इसके बाद सरकारी आदेश की नाफरमानी अथवा कार्य बहिष्कार जैसी स्थितियों में जेल भी हो सकती है।

मुख्यमंत्री ने कोरोना को लेकर आज एक सर्वदलीय बैठक भी की। बैठक में राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कहा कि अकेली राज्य सरकार के लिये इस महामारी से निपटना कठिन होगा। इसके लिये हमें दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर काम करना होगा ताकि मानव जीवन बचाया जा सके। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, बिस्तर, मेडिकल स्टाफ और दवाओं की आपूर्ति बढ़ाई जा रही है। प्रदेश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। कोरोना की जांच के लिये नये लैब शुरू हो गये हैं। वहीं टीकाकरण भी तेजी से जारी है।

कोरोना अपडेट....

  • राज्य गृह विभाग ने मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए ESMA लागू कर दिया है। इसके उल्लंघन पर कानूनी प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी। जारी आदेश में विभाग ने 10 सेवाओं पर ESMA के प्रावधान लागू किये हैं। इनमें समस्त स्वास्थ्य सुविधाएं, डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्य कर्मी, स्वास्थ्य संस्थानों के सफाई कर्मी, मेडिकल उपकरणों की बिक्री, संधारण और परिवहन में लगे हुये लोग, दवाओं की बिक्री, संधारण और परिवहन में लगे हुये लोग और एम्बुलेंस सेवा प्रमुख है।
  • रायपुर के फुंडहर स्थित कोविड अस्पताल से 10 अप्रैल से एक महिला लापता है। 14 अप्रैल की देर रात घर वालों को इस बात की जानकारी मिली। इस बीच घर वाले अस्पताल में नाश्ता पहुंचाते रहे, उसका हाल-चाल अस्पताल के स्टाफ से लेते रहे। कर्मचारी सब ठीक होने की बात कहते रहे। जब महिला के बेटे से फोन पर महिला से बात करने की जिद की तो ये बात उजागर हो पाई कि महिला गायब है।
  • कोरोना की लहर से नगरीय निकाय चुनाव भी प्रभावित हो सकते हैं। रायपुर के जिला निर्वाचन अधिकारी ने आज मत पत्रों की छपाई के लिए बुलाई गई टेंडर की अंतिम तिथि आगे बढ़ा दी है। जारी विज्ञापन के मुताबिक टेंडर जमा करने की अंतिम तिथि 15 अप्रैल थी। आज नया आदेश जारी कर अंतिम तिथि 3 मई को दोपहर बाद 3 बजे तक घोषित कर दी गई। उसी दिन चार बजे टेंडर को खोला भी जाएगा।

रायपुर सबसे ज्यादा प्रभावित

संक्रमण की दूसरी लहर से रायपुर जिला सबसे अधिक प्रभावित है। यहां 100 लोगों की जांच करने पर 50 पॉजिटिव मिल रहे हैं। रायपुर में कल बुधवार को 3,960 पॉजिटिव मिले, जबकि 33 संक्रमितों की मौत हुई है। रायपुर प्रदेश का ऐसा पहला जिला बन गया है, जहां अब तक कुल संक्रमितों का आंकड़ा एक लाख के पार (1,02,881) हो गया है।

राज्य के 18 जिलों में लॉकडाउन के बाद भी प्रदेश की संक्रमण दर बेतहाशा बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के 46,528 टेस्ट हुए। इनमें से 14,250 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, यानी प्रत्येक 100 जांच में 30.62 लोग पॉजिटिव मिले। बुधवार को प्रदेश में 73 संक्रमितों की मौत भी हुई।

इतनी अधिक मौतें कि शवों को ट्रकों से ढोना पड़ रहा है

प्रदेश में इतनी अधिक मौतें हो रही हैं कि शवों को श्मशान ले जाने के लिये गाड़ियां कम पड़ गई हैं। रायपुर में तो मालवाहक ट्रकों को शव वाहन बना दिया गया है। बुधवार को रायपुर के मेकाहारा से इसी तरह शवों को अंतिम संस्कार के लिए शहर के अलग-अलग हिस्सों में ले जाए गए।

डोंगरगांव के कोविड केयर सेंटर में कोरोना मरीजों के शवों को कचरा ढोने वाली गाड़ी में ले जाया गया।
डोंगरगांव के कोविड केयर सेंटर में कोरोना मरीजों के शवों को कचरा ढोने वाली गाड़ी में ले जाया गया।

सिस्टम कर रहा है शवों की भी बेकदरी
इलाज के अभाव या देरी से इलाज मिलने की वजह से जिन लोगों की मौत हो रही है, उनके शवों के साथ भी बेकदरी की तस्वीरें आ रही हैं। रायपुर में कई दिन से पड़े जिन शवों को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया, उनमें से कुछ में कीड़े पड़ चुके थे। राजनांदगांव के डोंगरगांव बालक छात्रावास में बनाए गए कोविड केयर सेंटर में कल तीन महिलाओं की मौत हो गई। स्थानीय प्रशासन ने इन तीनों शवों को कचरा ढोने वाली गाड़ी में रखकर श्मशान भिजवाया।

दवाओं की कालाबाजारी अब भी जारी
प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत और कालाबाजारी के बाद सरकार ने दो IAS अफसरों को मुंबई और हैदराबाद में तैनात किया है। इनका काम दवा बनाने वाली कंपनियों से संपर्क करके रेमडेसिविर जैसी दवाओं की लगातार सप्लाई करवाते रहें। इसका असर दिखा है, लेकिन दवाओं की कालाबाजारी अब भी जारी है। मरीजों के परिजन दवा की पर्ची लेकर मेडिकल स्टोर पर भटक रहे हैं। वहीं कुछ लोग अधिक कीमत पर दवाएं मुहैया करा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें