• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Raipur Bhilai (Chhattisgarh) Coronavirus Cases; Lockdown Update | Chhattisgarh Corona Cases District Wise Today News; Korba Durg Bilaspur Rajnandgaon

छत्तीसगढ़ में राहत के संकेत:राज्य में कम टेस्ट के बावजूद 100 में से 30 पॉजिटिव मिले, संक्रमण की वृद्धि दर में मामूली कमी भी दिखी

रायपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में कोरोना के बीच राहत के संकेत मिले हैं। रविवार को कोरोना के 41,150 टेस्ट हुए। इनमें से 12,666 संक्रमित पाए गए। रोज की औसतन 55 हजार टेस्ट से कम होने के बाद भी प्रत्येक 100 में 30 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए हैं। पिछले दो सप्ताह से लगातार यही औसत दर बनी हुई है।

इस बीच कोरोना मरीजों की वृद्धि दर में मामूली सुधार दर्ज किया गया है। अभी तक 3% तक रही यह दर अब 2.7% तक आ गई है। इसकी वजह से एक सप्ताह पहले 1.29 लाख तक पहुंच गई सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर 1,23,835 हो गई है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में भी तेजी से वृद्धि देखी जा रही है। रविवार को 11,223 लोग ठीक हुए। प्रदेश में अब तक 5,21,217 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि यह थोड़ी राहत के संकेत हैं। अधिक लोग ठीक होने लगे तो लोगों का हौसला भी बढ़ेगा और स्वास्थ्य संसाधनों पर दबाव भी कम होगा।

200 से कम पहुंचा मौतों का आंकड़ा

रविवार को प्रदेश में कोरोना से 190 मौतों की जानकारी दी गई। पिछले दो दिनों में रोजाना 200 से अधिक मौतें हो रही थीं। 24 अप्रैल को प्रदेश में 203 लोगों की जबकि 23 अप्रैल को 219 लोगों की मौत हुई। प्रदेश में कोरोना से मृत्यु दर 1.1% बनी हुई है।

छत्तीसगढ़ के 90% कोरोना के मरीज होम आइसोलेशन में ही इलाज करा रहे हैं। 10% मरीजों में कई गंभीर स्थिति में अस्पताल लाए गए हैं।
छत्तीसगढ़ के 90% कोरोना के मरीज होम आइसोलेशन में ही इलाज करा रहे हैं। 10% मरीजों में कई गंभीर स्थिति में अस्पताल लाए गए हैं।

कोरोना लक्षण लेेकिन निगेटिव रिपोर्ट वालों की भी भर्ती

राज्य सरकार ने ऐसे लोगों को भी अस्पताल में भर्ती कर इलाज की सुविधा शुरू की है जिन्हें कोरोना के लक्षण तो दिख रहे हैं लेकिन उनकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। ऐसे लोगों के लिए राज्य के सभी जिलों में 1322 आइसोलेशन बेड की व्यवस्था की गई है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक और कोविड प्रबंधन ट्रीटमेंट वर्टिकल की प्रभारी डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बताया कि दुर्ग जिले में 263, बेमेतरा में 200, रायपुर में 158, बस्तर में 141, कोरिया में 75, राजनांदगांव में 66, धमतरी में 55, रायगढ़ में 46, नारायणपुर में 30, जांजगीर चांपा में 30, मुंगेली में 28, कबीरधाम में 25, कोंडागांव 20, बिलासपुर में 20, कोरबा में 18, बलोदाबाजार में 16, बलरामपुर में 15, जशपुर में 14, और दंतेवाड़ा में 12 आइसोलेशन बेड रखे गए हैं। बालोद, बीजापुर, गरियाबंद, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही, कांकेर, महासमुंद, सुकमा, सूरजपुर और सरगुजा में 10-10 आइसोलेशन बेड रखे गए हैं।

पंचायतों को भी भेजी जा रही दवा और ऑक्सीमीटर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ग्राम पंचायत स्तर पर होम आइसोलेशन में इस्तेमाल होने वाली दवा का किट पहुंचा रहा है। गांवों में ऑक्सीमीटर भी भेजा जा रहा है ताकि वहां रह रहे लोग ऑक्सीजन स्तर की जांच करते रह सकें। गांवों में आइसोलेशन और क्वारैंटाइन केंद्रों की व्यवस्था की जा रही है।

खबरें और भी हैं...