18+ वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन:टीका लगवाने से पहले कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन जरूरी, छत्तीसगढ़ सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक को 25-25 लाख डोज का दिया है ऑर्डर

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पहले से ही कोविन एप या आरोग्य सेतु एप पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। वहां से मिले समय के मुताबिक ही केंद्रों पर टीका लगाया जाएगा। नए रजिस्ट्रेशन के लिए कोविन एप बुधवार से एक्टिव हो सकता है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया, राज्य सरकार 18 से 45 वर्ष के आयु वर्ग के सभी नागरिकों का टीकाकरण करने के लिए तैयार है। सरकार ने पहली किश्त में सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक को उनके वैक्सीन के 25-25 लाख डोज का ऑर्डर दिया है। वैक्सीन मिलते ही टीकाकरण शुरू हो जाएगा। इसके लिए सभी जिलों में टीका लगाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

अधिकारियों ने बताया, सरकारी केंद्रों में यह टीका पूरी तरह नि:शुल्क लगाया जाएगा। केंद्र सरकार ने इस चरण में टीकाकरण केंद्रों पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराने की सुविधा खत्म कर दी है। 18 से 45 वर्ष तक के नागरिकों को टीकाकरण के लिए कोविन एप और आरोग्य सेतु एप से रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके लिए व्यक्ति को अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर और आधार कार्ड से जुड़ी जानकारी देनी होगी। रजिस्ट्रेशन के बाद चाहे गए टीकाकरण केंद्र पर पहुंचने की तारीख और समय मिल जाएगा। अपॉइंटमेंट की यह सुविधा वैक्सीन आने के बाद ही शुरू होगी।

एक मई से निजी अस्पतालों को वैक्सीन नहीं देगी सरकार

एक मई 2021 से राज्य सरकार के वैक्सीन भंडार से निजी अस्पतालों को कोरोना वैक्सीन नहीं दी जाएगी। अभी तक केंद्र की ओर से भेजी गई वैक्सीन का एक हिस्सा निजी अस्पतालों को देना होता है। इसके लिए निजी अस्पताल 150 रुपया प्रति डोज की दर से भुगतान करते हैं। लेकिन अब निजी अस्पतालों को वैक्सीन उत्पादकों से सीधे टीका खरीदना होगा। इन अस्पतालों के लिए कोवीशील्ड टीके की दर 600 रुपए प्रति डोज और को-वैक्सीन के लिए 1200 रुपए प्रति डोज तय हुई है।

नए अस्पतालों को कराना हाेगा रजिस्ट्रेशन

कोविन एप में टीकाकरण केंद्र शुरू करने की योजना वाले नए निजी अस्पतालों का रजिस्ट्रेशन भी होगा। यह रजिस्ट्रेशन जिला टीकाकरण अधिकारी करेंगे। किसी निजी अस्पताल में कोरोना टीकाकरण की सुविधा के रजिस्ट्रेशन से पहले वहां कोल्ड चेन उपकरण, पर्याप्त संधारण क्षमता, प्रतीक्षालय, टीकाकरण और उसके बाद निगरानी के लिए कक्ष, टीका लगाने वाले प्रशिक्षित कर्मी की व्यवस्था रखनी होगी। संभावित प्रतिकूल प्रभावों के इलाज की व्यवस्था वहां करनी होगी।

औद्योगिक संस्थाएं भी करा सकती हैं रजिस्ट्रेशन

अगले महीने से औद्योगिक संस्थान भी अपने कर्मचारियों के लिए कंपनी से सीधे वैक्सीन खरीद सकेंगी। अस्पताल वाली औद्योगिक संस्थाओं का रजिस्ट्रेशन कोविन एप में वैक्सीनेशन सेंटर के तौर पर करना होगा। जहां अस्पताल नहीं है, उन्हें किसी निजी अस्पताल के वैक्सीनेशन केंद्र से मैपिंग कर सुविधा दिलाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...