पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहले रतजगा फिर सिस्टम का दगा:टीका न लगने से परेशान लोगों का गुस्सा फूटा, झुंझलाकर पुलिसकर्मी भी बोला- हमने बोला था क्या 5 बजे से आकर लाइन लगाइए

रायपुर3 महीने पहले

रायपुर के हर सेंटर पर टीका लगवाने वाले लोग ज्यादा हैं मगर सिर्फ 120 से 200 डोज ही पहुंच रहे हैं। इस वजह से बाकी के लोगों को हर रोज लौटाया जा रहा है। दूसरे दिन फिर आ रहे लोगों को फिर से टीके खत्म होने की बात सुनने को मिल रही है। शहर के अधिकांश सेंटर पर ही ऐसी ही परेशानी आ रही है। मंगलवार की सुबह पुरैना के सेंटर पर खड़े लोगों से कहा गया कि जिसका आज की तारीख में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन है, उन्हें ही सेंटर में एंट्री मिलेगी।

तस्वीर रायपुर के डंगनिया वैक्सीन सेंटर की।
तस्वीर रायपुर के डंगनिया वैक्सीन सेंटर की।

ये सुनकर बाहर एंट्री मिलने का इंतजार कर रहे लोग भड़क गए जो सोमवार को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद टीका खत्म होने की वजह से लौटा दिए गए थे। उन्होंने कहा कि हमने तो कल रजिस्ट्रेशन भी करवाया मगर कल हमें टीका नहीं लगा, अब आज आएं हैं तो दोबारा रजिस्ट्रेशन का नियम, ऐसी बात थी तो कल ही ये बताना चाहिए था, हम सुबह साढ़े 5 बजे से खड़े हैं। बदल में गेट पर तैनात पुलिसकर्मी ने कह दिया हमने कहा था क्या साढ़े 5 बजे से आकर यहां लाइन लगाने को। टीका नहीं है, भीड़ न लगाएं अपने घर जाएं।

हाल सोशल डिस्टेंसिंग का, तस्वीर पुरैना सेंटर की।
हाल सोशल डिस्टेंसिंग का, तस्वीर पुरैना सेंटर की।

APL वर्ग को सबसे ज्यादा तकलीफ
APL कोटे के टीके लोगों के ज्यादा पहुंचने की वजह से खत्म हो रहे हैं। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाकर सेंटर में आए उतने लोगों को ही सेंटर में एंट्री दी जा रही है, जितनी डोज है। इसके बाद लोगों को एंट्री नहीं मिलती। बहुत से लोग रजिस्ट्रेशन के बाद भी भटक रहे हैं, कुछ को कहा जाता है कि पास के दूसरें केंद्र में चले जाएं। कुछ को देर शाम जानकारी मिलती है कि वो अब टीका लगवाने आ सकते हैं, जबकि शाम 5 के बाद सेंटर बंद हो जाते हैं। 100 से 70 तक टीके BPL, अंत्योदय वर्ग के बच जाते हैं, क्योंकि ये सेंटर तक पहुंचते ही नहीं।

टीकाकारण आंकड़ों में
छत्तीसगढ़ में अब तक 45 साल से अधिक 43 लाख 74 हजार 933 लोग और 18 से 44 साल के 4 लाख 77 हजार लोग टीका लगवा चुके हैं। सोमवार को दिन भर चले टीकाकरण में रायपुर जिले में 18-44 आयु वर्ग के अन्त्योदय, BPL एवं फ्रंटलाइन वर्कर श्रेणी के 6160 लोगों ने कोविड-19 टीका का पहला डोज लगवाया।

तस्वीर दीन दयाल ऑडिटोरियम की है।
तस्वीर दीन दयाल ऑडिटोरियम की है।

इन जगहों पर हो रहा टीकाकरण
रायपुर में मारुति मंगलम गुढियारी, काशीराम स्कूल भनपुरी, गर्ल्स कॉलेज देवेन्द्र नगर, शहीद स्मारक इंग्लिश मीडियम स्कूल, BIT परिसर शंकरनगर, प्रोतन सिंह स्कूल श्यामनगर, JR दानी स्कूल कालीबाड़ी, सरस्वती कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला, सांस्कृतिक भवन चंगोराभाठा, पानी टंकी डगनिया, शहीद संजय यादव उच्चतर माध्यमिक शाला टिकरापारा, शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय नाका चौक भाठागांव, पं.दीनदयाल उपाध्याय आडिटोरियम, शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला राम नगर, सामुदायिक भवन कबीरनगर, सामुदायिक भवन, टाटीबंध शास.उच्चतर माध्यमिक शाला मोवा, वार्ड कार्यालय अवंति विहार कालानी पानी टंकी के नीचे, शासकीय माध्यमिक शाला पुरैना, प्राथमिक शाला बोरियाखुर्द, अडवानी स्कूल बीरगांव, शासकीय उच्च माध्यमिक शाला सरोरा, दाऊ पोषण लाल स्कूल परसतराई धरसींवा, पूर्व माध्यमिक शाला बरबंदा धरसींवा, सांस्कृतिक भवन, वार्ड क्रमांक 18, तिल्दा, भारत देवांगन शा.उ.मा. विद्यालय खरोरा, शासकीय कन्या उच्चतर विद्यालय, अभनपुर, शासकीय हरिहर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नवापारा, बद्री प्रसाद लांधी कॉलेज आरंग और बालक शासकीय मातृसदन उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मंदिरहसौद।

खबरें और भी हैं...