बीएड के 147 कॉलेजों में 14 हजार सीटें:बीएड, इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए अगले माह काउंसिलिंग

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बीएड, इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक, फार्मेसी व कृषि कॉलेजों में दाखिले के लिए अगले महीने काउंसिलिंग शुरू होगी। इसके लिए विभागों से तैयारी की जा रही है। कोरोना संक्रमण की वजह से प्रवेश परीक्षाएं देर से शुरू हुई। इसलिए काउंसिलिंग में भी देरी हो रही है। इन पाठ्यक्रमों में नवंबर तक प्रवेश दिए जा सकते हैं।

बीएड व डीएल.एड के नतीजे कुछ दिन पहले जारी किए गए। इसके अनुसार अब राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद यानी एससीईआरटी से काउंसिलिंग की तैयारी की जा रही है। जल्द ही इस संबंध में सूचना जारी होगी। राज्य में इस बार बीएड के 147 कॉलेजों में प्रवेश दिए जाएंगे। इन कॉलेजों में करीब साढ़े 14 हजार सीटें हैं। पिछले दिनों व्यापमं से प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई। इसके तहत करीब 69 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए। कोरोना काल में जहां अन्य कोर्स की डिमांड कुछ कम हुई है, वहीं बीएड में इस बार भी बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों ने प्रवेश परीक्षा दी। अधिकारियों का कहना है कि तीन चरण की काउंसिलिंग होगी। इसके अनुसार शेड्यूल जारी किया जा सकता है। डीएलएड के लिए भी इसी तरीके से काउंसिलिंग होगी। राज्य में डीएलएड की करीब साढ़े छह हजार सीटें हैं। पिछले कुछ वर्षों में बीएड की डिमांड बढ़ी है। इस बार भी प्रवेश के लिए कंपीटिशन ज्यादा होगा। वहीं दूसरी ओर डीएलएड की पिछली बार करीब हजार सीटें खाली रह गई थी।

इंजीनियरिंग की काउंसिलिंग भी अक्टूबर में
इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए भी काउंसिलिंग अक्टूबर में शुरू होगी। इसकी प्रवेश परीक्षा हो चुकी है। कुछ दिन पहले मॉडल आंसर भी जारी किए जा चुके हैं। नतीजे जल्द जारी होने की संभावना है। रिजल्ट आने के कुछ दिनों बाद काउंसिलिंग होगी। राज्य के 33 कॉलेजों में इंजीनियरिंग की कुल सीटें 11381 है। पिछली बार की तुलना में सीटें कम हुई हैं। वहीं दूसरी ओर फार्मेसी की काउंसिलिंग भी जल्द शुरू होगी। प्री फार्मेसी टेस्ट यानी पीपीएचटी के रिजल्ट अक्टूबर में जारी होंगे।

कृषि में प्रवेश के लिए भी काउंसिलिंग जल्द
इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय से संबद्ध सरकारी व प्राइवेट कॉलेजों में दाखिले के लिए काउंसिलिंग अक्टूबर में ही होने की संभावना है। पिछले दिनों व्यापमं से प्री एग्रीकल्चर टेस्ट यानी पीएटी आयोजित की गई। इस परीक्षा के माध्यम कृषि व उद्यानिकी के स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रम में प्रवेश होगा। कृषि विवि में कृषि व उद्यानिकी की करीब ढ़ाई हजार सीटें हैं। पिछले दिनों व्यापमं से आयोजित प्रवेश परीक्षा में 25602 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। पिछले कुछ वर्षों में जब पीएटी के आयोजित की जाती थी तब 50 हजार तक परीक्षार्थी शामिल होते थे।

खबरें और भी हैं...