पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छत्तीसगढ़ में 18+ का वैक्सीनेशन:सुबह 5 बजे से लोग वैक्सीन लगवाने पहुंचे, हर केंद्र के बाहर भीड़; 2 घंटे बाद ही बोल दिया- स्टॉक खत्म

रायपुर2 महीने पहले
तस्वीर रायपुर की है। दीन दयाल ऑडिटोरियम के बाहर मुख्य सड़क पर NIT कैंपस तक करीब 200 मीटर तक लोग खड़े हैं।

यह नजारा छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर शहर का है। यहां BTI ग्राउंड, चंगोराभाटा और दीन दयाल ऑडिटोरियम के बाहर सूरज की किरणें दिखने से पहले लोग कोरोना का वैक्सीन लगाने पहुंच चुके थे। कुछ ही मिनटों में हर केंद्र में लगभग 500 से अधिक लोग जमा हो चुके थे। यहां वैक्सीनेशन APL, BPL और अंत्योदय कैटेगरी के राशनकार्ड वालों का किया जा रहा है।

हर केंद्र में पहुंची वैक्सीन की संख्या को इन तीन कैटेगरी में बांटा जा रहा है। इस वजह से APL वर्ग के लिए 120 से 130 टीके ही थे। पहले आए लोगों का रजिस्ट्रेशन मौके पर किया गया, फिर टोकन दिया गया और अन्य लोगों से कल आने का कह दिया गया।

इनमें ज्यादातर ऐसे लोगों को भी लौटना पड़ा जो सुबह 5 बजे से वैक्सीन लगने की आस लेकर आए थे, करीब 9 बजे तक केंद्र के बाहर इंतजार के बाद इन्हें भी घर भेज दिया गया।

शराब ऑनलाइन और दवा के लिए लाइन

भाजपा ने इन हालातों पर सवाल खड़े किए हैं। पार्टी की तरफ से कहा गया कि काश शराब की होम डिलीवरी के बदले स्वास्थ्य सुविधाओं की होम डिलीवरी होती, तो छत्तीसगढ़ में आज हजारों घर इस तरह बर्बाद नहीं होते। हजारों बच्चे अनाथ नहीं होते।

भाजपा के प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा, 'सरकार वैक्सीनेशन के लिए ऑनलाइन पंजीयन ये कहकर नहीं कर रही कि गरीब लोगों के पास फोन नहीं, शराब ऑनलाइन बेचते वक्त यह सोच दोहरे रवैये को दिखाता है।'

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह का दावा है कि शराब की अवैध तस्करी, दूसरे कैमिकल या जहरीली शराब पीकर हुई लोगों की मौत की घटना की वजह से शराब ऑनलाइन बेचने का फैसला हुआ है।

जहां तक नजर आ रही है लोगों की भीड़ दिख रही है। तस्वीर रायपुर के वैक्सीनेशन सेंटर की।
जहां तक नजर आ रही है लोगों की भीड़ दिख रही है। तस्वीर रायपुर के वैक्सीनेशन सेंटर की।

ये उपाय करे सरकार
वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर भीड़ इकट्ठा होने से यहां कोरोना संक्रमण बढ़ने का भी खतरा है। दीन दयाल ऑडिटोरियम के बाहर सुबह 6 बजे से टीका लगवाने आए रायपुर में पेशे से डॉक्टर, हरिंद्र मोहन शुक्ला ने बातचीत में कहा, 'मुझे सरकार या प्रशासन से शिकायत नहीं है, मगर हर दिन 120 या 200 लोगों को ही वैक्सीन लग रही है। ऐसे में लोगों की बड़ी भीड़ वैक्सीन की आस में पहुंच रही है। जिनके पास मोबाइल है, सरकार उनका तो ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर शेड्यूल तय कर दे। इससे भीड़ इकट्ठा होने के हालात से बच सकते हैं।'

शनिवार को राज्य में 36 हजार लोगों ने वैक्सीन लगाई
5 मई से रुके 18 से 44 साल के लोगों के लिए वैक्सीनेशन को शनिवार से शुरू किया गया। शनिवार रात 9 बजे तक सामने आए आंकड़ों के मुताबिक, राज्य के 541 केन्द्रों में 36 हजार 894 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। इनमें से अंत्योदय के 3004, BPL के 12887, APL के 21003 लोग शामिल हैं।

वैक्सीनेशन के लिए ये दस्तावेज जरूरी
अन्त्योदय और BPL श्रेणी के लिए कार्ड धारकों को निर्धारित ID/दस्तावेज के साथ साथ राशन कार्ड भी दिखाना होगा ,जबकि APL श्रेणी के लिए निर्धारित पहचान पत्र ID जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड या अन्य मान्य दस्तावेज में से कोई एक दिखाना होगा। APL श्रेणी के लिए राशन कार्ड दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी।