• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Daundi Lohara Janpad Panchayat Recommended The Removal Of A Woman Panchayat Secretary Because She Could Not Do As Much Work As A Man, Minister TS Singhdev Had To Intervene

सिस्टम में ही 'शक्ति' से भेदभाव:डौंडी लोहारा जनपद पंचायत ने कहा- महिला ग्राम सचिव को हटाया जाए, वो पुरुष जितना काम नहीं कर सकती; मंत्री को हस्तक्षेप करना पड़ा

रायपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शक्ति स्वरूपा जगदम्बा की उपासना पर्व नवरात्रि में भी महिलाओं के साथ समाज और सिस्टम का भेदभाव जारी है। छत्तीसगढ़ में बालोद जिले के एक गांव की पंचायत सचिव को हटाने की सिफारिश सिर्फ इसलिए कर दी गई कि वह महिला है। वह पुरुषों जितना काम नहीं कर सकती। भेदभाव की जानकारी सामने आने पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव को हस्तक्षेप करना पड़ा।

सामने आया कि एक साल पहले बालोद की डौंडी लोहारा जनपद पंचायत के पास भेंडी (लो) गांव के सरपंच का आवेदन पहुंचा। उसमें कहा गया था, काम अधिक होने की वजह से वहां पदस्थ महिला ग्राम पंचायत सचिव हेमलता मानिकपुरी की जगह किसी पुरुष सचिव को पदस्थ किया जाए। जनपद पंचायत प्रशासन ने इस तर्क के आधार पर पंचायत सचिव को हटाने का आग्रह करने वाले सरपंच को समझाने की जगह जिला पंचायत को अपनी सिफारिश भेज दी। इसमें हेमलता मानिकपुरी को भेंडी (लो) से हटाकर झिटिया भेजने और झिटिया के सचिव रामेश्वर को भेंडी (लो) में पदस्थ करने का प्रस्ताव किया गया था। शनिवार को यह मामला पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव के पास पहुंच गया। सिंहदेव ने कहा, यह आदेश अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं आपत्तिजनक है। इस विषय में संज्ञान लेकर मैंने तुरंत इसकी जांच कराने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है। इस प्रकार की विचारधारा पूर्णतः अस्वीकार्य है। इस संबंध में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त और उचित कार्रवाई की जाएगी।

आनन-फानन में वापस ली गई सिफारिश

पंचायत मंत्री के हस्तक्षेप के बाद बालोद प्रशासन हरकत में आया। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश के बाद डौंडी लोहारा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने शनिवार शाम को ही नया पत्र जारी किया। इसमें भेंडी (लो) की ग्राम पंचायत सचिव हेमलता मानिकपुरी के तबादले का प्रस्ताव वापस लेने की बात कही गई।

सिस्टम का ऐसा तर्क वहां, जहां की विधायक सरकार में मंत्री

महिला-पुरुष की कार्यक्षमता में भेदभाव का यह तर्क वहां से आया है जहां की विधायक प्रदेश कैबिनेट में मंत्री हैं। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिया डौंडी लोहारा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करती हैं। वे वहां दूसरी बार विधायक चुनी गई हैं। 2009 में दुर्ग जिला पंचायत में क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं।

खबरें और भी हैं...