पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Demolition Intensifies For 37 acre Hi tech City In The Middle Of The Capital; Company Fixed For Drawing design, Apartment bungalow And Office Too

निर्माण कार्य:राजधानी के बीच 37 एकड़ की हाईटेक सिटी के लिए तोड़फोड़ तेज ; ड्राइंग-डिजाइन के लिए कंपनी तय, अपार्टमेंट-बंगले और दफ्तर भी

रायपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण और लाॅकडाउन से बुरी तरह प्रभावित राजधानी के बीचीबोच न्यू शांतिनगर हाईटेक सिटी का करीब एक साल रुका काम तेज हो गय और एक पैच के पुरानी सरकारी मकान-बंगले पूरी तरह गिरा दिए गए। यहां के सरकारी बंगलों और अलग-अलग प्रोजेक्ट से जुड़ी जमीनें अलग-अलग विभागों ने हाउसिंग बोर्ड को सौंप दी हैं। सब मिलाकर यह टाउनशिप 37 एकड़ में बनेगी। जमीनें मिलने के बाद इस हाईटेक सिटी की डीटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) और ड्राइंग डिजाइन बनाने का काम हाल में दिल्ली की एक कंपनी केपीएमजी को सौंपाा गया है।

गार्डन के किनारे होगा पहला फेज
पहला फेज पुराने गार्डन से लगी जमीन पर पूरा किया जाएगा। इसके बाद दूसरे और तीसरे फेज काम का शुरू होगा। अफसरों का दावा है कि दो साल में ही पहले फेज का काम पूरा कर लेंगे। इस प्रोजेक्ट को शांति नगर पुनर्विकास योजना का नाम दिया गया है।

आवासीय-कमर्शियल सब यहीं
यहां आवासीय मकानों के साथ कामर्शियल स्पेस रहेगा। शॉपिंग मॉल भी बनेगा और यहीं तहसील, थाने जैसे सरकारी दफ्तर भी होंगे। हर बड़े अपार्टमेंट नए हाईटेक तरीके से बनेंगे।

तोड़फोड़ के साथ शिफ्टिंग भी
मौजूदा कालोनी में 314 पुराने मकान हैं। इनमें बी, सी और डी टाइप के 16 बंगले भी हैं। यहां रहने वाले अधिकारियों को अभी नवा रायपुर शिफ्ट नहीं किया जा सका है, क्योंकि वहां भी इनके लिए बनने वाले बंगलों का काम प्रभावित है। यहीं इसी कॉलोनी में जी, एच और आई टाइप के 268 मकानों में रहने वाले लोगों को हाउसिंग बोर्ड कॉलोनियों के बीएसयूपी मकानों में शिफ्ट किया जाएगा।

^ डीटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। इसके बाद पीपीपी माॅडल पर डेवलपर तय कर देंगे। पहला फेज दो साल में पूरा कर लिया जाएगा।
डॉ. अयाज तंबोली, कमिश्नर-हाउसिंग बोर्ड

खबरें और भी हैं...