छत्तीसगढ़ सरकार से वैट घटाने की मांग:भाजयूमो नेताओं ने पेट्रोल पंप पर की नारेबाजी, साय बोले- इधर-उधर की बातें छोड़ दाम करें CM

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पेट्रोल पंप पर प्रदर्शन वैट के मुद्दे पर। - Dainik Bhaskar
पेट्रोल पंप पर प्रदर्शन वैट के मुद्दे पर।

रायपुर में शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के नेता पेट्रोल पंप पर नारेबाजी करते नजर आए। भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू के साथ दल के कार्यकर्ता वैट लिखी बोरियां लेकर पेट्रोल पंप पर आए। पंप के सामने एक स्कूटर खड़ा कर इन नेताओं ने जमकर नारेबाजी की। सभी छत्तीसगढ़ सरकार से अपने हिस्से का वैट पेट्रोल के दामों से घटाने की मांग की। भाजयुमो नेताओं ने कहा कि प्रदेश की सरकार अपने हिस्से का वैट कम करेगी तो जनता को पेट्रोल के दामों में राहत मिलेगी।

अमित ने आगे कहा कि केंद्र सरकार ने अपने हिस्से की एक्साइज ड्यूटी कमकर पेट्रोल की कीमतों में 5 रुपए तक की राहत लोगों को दी है। वर्तमान में छत्तीसगढ़ की सरकार पेट्रोल की कीमत पर 25 प्रतिशत फ्लैट टैक्सेशन होता है। एक और दो रुपए का उप कर भी लगाया गया है। दूसरी तरफ कांग्रेस सरकार का दावा है कि प्रदेश सरकार जो वैट लेती है उसकी ये दर भाजपा शासन काल से ही है, इसे बढ़ाया नहीं गया है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय ने भी इस मामले में सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीज़ल पर एक्साइज ड्यूटी घटाकर देश को राहत प्रदान की है और राज्यों से अपने-अपने हिस्से के वैट को घटाने की अपील की है। प्रदेश सरकार अब इधर-उधर की बातें करने के बजाय अपने हिस्से का वैट उसी तरह क्यों नहीं घटा रही है जैसा देश के भाजपा शासित प्रदेशों में वैट घटाकर लोगों को राहत पहुंचाने का काम किया गया है।

सीएम भूपेश दे चुके हैं नया चैलेंज
इस मामले में एक दिन पहले शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के सीएम ने भाजपा और केंद्र सरकार को चैलेंज किया था। भूपेश बघेल ने कहा था देश में जब यूपीए की सरकार थी तब पेट्रोल पर 9 रुपए टैक्स लिया जाता था। अब 32 रुपए तक केंद्र सरकार लेती है। इसे 9 रुपए करें तो पेट्रोल लोगों को 50 से 60 रुपए में मिलने लगेगा। केंद्र सरकार यूपीए शासन काल की तरह टैक्सेशन कम करे तो बात बनेगी। ये नहीं कि 30 रुपए बढ़ाकर 5 रुपए कम कर दिया।

खबरें और भी हैं...