राजधानी में डेंगू:76 घरों में डेंगू का लार्वा मिला निगम का विशेष अभियान बंद

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजधानी में डेंगू के लगातार मरीज मिल रहे हैं। गुरुवार को 5 समेत 372 मरीज मिल चुके हैं। इसमें केवल दो माह में 200 से ज्यादा नए संक्रमित मिले हैं। इसके बावजूद नगर निगम का विशेष सफाई अभियान गुरुवार को खत्म कर दिया गया है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के अध्यक्ष नागभूषण राव का कहना है कि सोमवार से सफाई का स्वरूप बदल जाएगा।

अभियान के दौरान सभी वार्डों मंे सफाई की गई। 2000 घरों की जांच कर 500 कूलरों का पानी खाली करवाया गया। 76 घरों में डेंगू पैदा करने वाले लार्वा मिले, जिससे 7600 रुपए जुर्माना वसूला गया। एंटी लार्वा, केमिकल डाला गया। फागिंग भी की गई। डेंगू साफ पानी में पैदा हुए एडिस मच्छर से फैलता है। डेंगू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने पर नगर निगम ने 31 अगस्त से विशेष सफाई अभियान शुरू किया था। रोज एक जोन के एक वार्ड यानी सभी जोन में 10 वार्डों में विशेष अभियान चलाया गया। यह एक तरह से रस्मी साबित हुआ। अगर 2000 घरों की जांच में केवल 76 घरों में लार्वा निकला तो निगम के अभियान का अंदाजा लगाया जा सकता है। पिछले 10 दिनों से 8 की औसत से डेंगू के मरीज मिल रहे हैं। अगर घरों के विंडो कूलर में लार्वा नहीं है तो फिर डेंगू का मच्छर कहां पैदा हो रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि नालियों में डेंगू के मच्छर पैदा नहीं होते, क्योंकि पानी गंदे होते हैं। ऐसे में जहां भी साफ पानी जमा है, वहां से मच्छर पैदा हुए होंगे। अगर एक सप्ताह तक पानी जमा है तो वहां लार्वा पैदा होता है। एंटी लार्वा व केमिकल डालकर इसे खत्म करने का दावा अधिकारियों ने किया है।

खबरें और भी हैं...