पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैक्सीन पर सियासत:केंद्र और राज्य के बीच का विवाद थमने का नाम नहीं, हर्षवर्धन-सिंहदेव के बाद अब रमन-चंद्राकर भी मैदान में

रायपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मतभेद भुलाकर लड़ें कोरोना से: रमन
  • केंद्र बाधाएं खड़ी कर रहा है: सिंहदेव

कोरोना संक्रमण के लगातार फैलने और मौतों की संख्या बढ़ने के बाद केंद्र और राज्य के बीच का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और छग के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के बीच सोशल मीडिया में शुरू हुए तकरार में पूर्व सीएम डॉ.रमन सिंह और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर भी कूद पड़े।

डॉ.सिंह ने केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन के पोस्ट को टैग करके राज्य सरकार को नसीहत देते हुए लिखा कि कोरोना संकट के समय में मतभेद भुलाकर साथ लड़ना चाहिए लेकिन कांग्रेस को इसमें भी राजनीति करने में शर्म नहीं आ रही है। जिस स्वदेशी वैक्सीन पर पूरी दुनिया को भरोसा है, उस पर सिर्फ कांग्रेस को शक है। याद रखना! छत्तीसगढ़ तुम्हें कभी माफ नहीं करेगा। वहीं चंद्राकर ने राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था के बदहाल होने और राज्य में ऑक्सीजन की कालाबाजारी का आरोप लगाया। उन्होंने सीएम भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को टैग करते हुए लगातार तीन पोस्ट किए। इसमें लिखा है कि न जांच, न बेड, न ऑक्सीजन, न दवाई न ही कोई योजना। केवल शब्दों की जुगाली। सेस की राशि को दबाने की नीयत, टीकाकरण के लिए अफवाह फैलाना।

अब भी आंखों में कुछ बाकी है? छत्तीसगढ़ में ऑक्सीजन और जीवन रक्षक दवाई की कालाबाजारी हो रही है। छत्तीसगढ़ में कोरोना भी माफिया की चपेट में है। कालाबाजारियों को किसका संरक्षण प्राप्त है (सरकारी तो नहीं)? जिम्मेदार संस्थाएं हाथ पर हाथ धरी बैठी क्यों है? अपने तीसरे पोस्ट में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के गुरुवार के बयान को पोस्ट करते हुए चंद्राकर ने राज्य सरकार से जवाब मांगा। उन्होंने लिखा कि छत्तीसगढ़ सरकार के 13 कोरोना योद्धा और उनकी पार्टी के महान प्रवक्ता केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के इस वक्तव्य पर कोई प्रतिक्रिया देना चाहेंगे क्या?

बता दें कि बुधवार को सोशल मीडिया में स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव से हुई तकरार के बाद डॉ. हर्षवर्धन ने गुरुवार को वैक्सीन की उपलब्धता की जानकारी देते हुए पोस्ट किया कि केंद्र सरकार पर पक्षपात के बारे में कुछ राज्यों द्वारा ह्यू एंड क्राइ सिर्फ अपनी अक्षमता को छिपाने का प्रयास है। महाराष्ट्र औैर राजस्थान कोविड 19 वैक्सीन खुराक के आवंटन के आधार पर शीर्ष तीन राज्यों में से दो हैं। दाेनों गैर-भाजपा शासित राज्य हैं।

केंद्र की बाधाओं के बावजूद कोविड के खिलाफ जंग जीतेंगे: सिंहदेव
स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने भी पलटवार करते हुए तीन पोस्ट किए। पहले पोस्ट में नोटबंदी, फ्लाइट जीएसटी, लॉकडाउन-अनलॉक किया गया और संरक्षण की रणनीति का उल्लेख किया है और सभी में केंद्र सरकार को विफल बताया है। दूसरे पोस्ट में उन्होंने लिखा कि विफलताओं के अपने विशाल इतिहास को छिपाने के लिए भाजपा गलत सूचना फैलाकर लोगों को भ्रमित करती है। छत्तीसगढ़ टीकाकरण में अग्रणी राज्यों में से एक है और हमारे 10 प्रतिशत से अधिक लोग पहले से ही टीकाकरण करा चुके हैं। लेकिन अपने नीच स्वभाव के कारण भाजपा इसके बारे में झूठ भी फैला रही है। अपने तीसरे पोस्ट में सिंहदेव ने लिखा कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार हर नागरिक को कोरोना से टीकाकरण और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और हम केंद्र से जानबूझकर बाधाओं के बावजूद ऐसा करना जारी रखेंगे। लोगों के साथ, लोगों के लिए हम कोविड 19 के खिलाफ यह युद्ध जीतेंगे।

सभी वयस्कों के लिए वैक्सीन ‌‌‌‌दे केंद्र सरकार: सीएम भूपेश
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 18 साल की उम्र पूरी कर चुके सभी वयस्कों को कोरोना से बचाने का टीका लगाने की मांग की है। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना औपचारिक आग्रह भेजा है। सीएम बघेल ने सोशल मीडिया पोस्ट पर लिखा, अब जबकि कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है, तो हमेशा की तरह भविष्य में आने वाली चुनौतियों के प्रबंधन के लिए हमारे देश की युवा पीढ़ी तैयार रहें। ऐसा हम सब सोचते हैं। इसलिए आवश्यक है कि वैक्सिनेशन की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष निर्धारित की जाए। प्रधानमंत्री से हमारा अनुरोध है। छत्तीसगढ़ से पहले पंजाब और महाराष्ट्र जैसे राज्यों की सरकारों ने भी 18 वर्ष की उम्र पूरी कर चुके सभी युवाओं के वैक्सीनेशन के संबंध में अपना औपचारिक आग्रह केंद्र सरकार को भेजा था। इन राज्यों ने कोराना वैक्सीन की आपूर्ति कम होने की शिकायत के साथ-साथ केंद्र सरकार ने सभी वयस्कों के लिए कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग की है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने उठाए सवाल
छत्तीसगढ़, पंजाब और महाराष्ट्र जैसे राज्यों की मांगों पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सवाल खड़े कर दिए हैं। डॉ. हर्षवर्धन ने भी सोशल मीडिया पर लिखा कि कुछ राज्य 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण शुरू करने की मांग कर रहे हैं। इसका यह मतलब लगाया जाना चाहिए कि उन्होंने अपने-अपने राज्यों में सभी स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और वरिष्ठ नागरिकों का टीकाकरण कर लिया है। लेकिन, तथ्य इसके बिल्कुल अलग हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के बयान के बाद राजनीति भी तेज है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें