CG में चुनाव से पहले अफसरों को धमकी:डॉ रमन बोले- कान खोलकर सुन लो कलेक्टर-SP तुम्हारा हिसाब करेंगे, चंद्राकर ने भी अफसरों को चेताया

रायपुर5 महीने पहले
डॉ रमन सिंह आमतौर पर इस तरह की बयानबाजी से दूर रहते हैं।

20 दिसंबर की सुबह छत्तीसगढ़ के लाखों वोटर अपने मोहल्ले अपने शहर के विकास के जिम्मेदारों को चुनेंगे। मगर इससे पहले आखिरी दम लगाने वाले सियासी दलों के नेता अब धमकाने और डराने पर भी उतर आए हैं। पूर्व CM डॉ रमन सिंह एक वीडियो में कहते दिख रहे हैं कान खोलकर सुन लो SP कलेक्टर....दूसरे वीडियो में किसी घटना को लेकर पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर भी अफसरों को चेताते दिख रहे हैं। दुर्ग और रायपुर में हुई सियासी सभाओं में नेताओं ने धमकाने वाले लहजे में बयान दिया है।

दुर्ग की चुनावी रैली में डॉ रमन सिंह ने कहा- कान खोलकर सुन लो कलेक्टर और SP हमारे कार्यकर्ता को आतंकित करना छोड़ दो। तुम्हारे नाम मेरा कार्यकर्ता लिख रहा है। इनके तो तीन साल पूरे हो चुके हैं। दो साल बचे हैं फिर तुम्हारा हिसाब करेंगे। तलवे चाटना बंद करो, राजनीति करोगे, रणनीति करोगे तो हम हिसाब करेंगे। ये वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है। अफसर भी दबी जुबान में इस वीडियो के प्रति हैरानी जता रहे हैं। दरअसल रमन सिंह अफसरों पर कांग्रेस के इशारे में काम करने की बात कह रहे थे।

अजय चंद्राकर और भाजपा नेताओं ने राज्य निर्वाचन आयोग में बीरगांव के गाजी नगर में सैकड़ों फर्जी मतदाताओं के बारे में शिकायत की थी। इस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया। इसे लेकर अजय चंद्राकर ने कहा कि ऐसे अफसरों को तो इस्तीफा दे देना चाहिए जो निष्पक्ष ढंग से चुनाव संपादित नहीं कर सकते। मैं कह रहा हूं कि इस वजह से कल को कोई दुर्घटना हो गई तो इसके जिम्मेदार यही अफसर होंगे।

कांग्रेस ने कहा- हार के डर से बौखलाए
भिलाई और बीरगांव में चुनाव प्रचार के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और अजय चंद्राकर के द्वारा दिए गए बयानों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा के नेता हार के डर से बौखला गए। रमन सिंह अमर्यादित एवं पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर की भाषा लोकतंत्र को कलंकित करने वाली है।

रमन सिंह चुनावी सभा में एजेंडा रखने के बजाए कलेक्टर एसपी को धमका रहे है। 15 साल तक सरकार चलाने वाली भाजपा और उसके सरकार में 10 साल तक मंत्री रहा व्यक्ति इतनी अशिष्ट अभद्र शब्दावली का प्रयोग कर रहा है और समूची भाजपा अपने इस अशिष्ट नेता की भाषा पर तालियां बजा रहे है।

खबरें और भी हैं...