माशिमं ने तैयारी पूरी रखी:दसवीं परीक्षा भले ही कैंसिल, लेकिन बोर्ड तय जगहों पर पहुंचा रहा पेपर

रायपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार के निर्देशों के अनुसार ही आयोजित होगी परीक्षा

रायपुर. राज्य सरकार ने भले ही अभी 10वीं की परीक्षा अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दी है, लेकिन माध्यमिक शिक्षा मंडल लगातार दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा की तैयारियों में लगा हुआ है। माशिमं की ओर से तैयारियां पूरी का जा रही है ताकि राज्य सरकार के आदेश के साथ ही परीक्षाएं आयोजित की जा सकें।

माशिमं की ओर से अभी लगातार बोर्ड परीक्षाओं के प्रश्न पत्र ओर गोपनीय सामग्री उनके नोडल केंद्रों में पहुंचाए जा रहे हैं। प्रश्न पत्रों की सुरक्षा के लिए अभी उन्हें थानों और जिला कोषालयों में रखा जाएगा। 10वीं की परीक्षाएं 15 अप्रैल से शुरू होने वाली थी, लेकिन अब इसकी नई तारीख घोषित की जाएगी। इसी तरह 12वीं की परीक्षाएं 3 मई से 24 मई तक होगी। फिलहाल इन तारीखों को अभी स्थिर रखा गया है। बोर्ड अफसर इन तारीखों को ही आधार मानकर परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। यही वजह है कि दोनों परीक्षाओं की तैयारी एक साथ चल रही है। माशिमं की ओर से नोडल प्राचार्यों को गोपनीय सामग्री बांटी जा रही है। इसके लिए शासकीय स्कूलों को केंद्र बनाया गया है। इन स्कूलों से ही परीक्षा सामग्री सेंटरों तक पहुंचाई जा रही है।

86 नोडल प्राचार्यों को गोपनीय सामग्री बांटी
माशिमं की ओर से पिछले हफ्ते 86 नोडल प्राचार्यों को परीक्षा सामग्री का वितरण किया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा ने बताया कि अभनपुर, तिल्दा और आरंग के परीक्षा केंद्रों में शामिल होने वाले 41300 छात्रों के लिए 86 नोडल प्राचार्यों को परीक्षा सामग्री बांट दी गई है। रविवार को धरसींवा के नोडल प्राचार्यों को इन सामग्रियों का वितरण किया गया। पूरी सुरक्षा के साथ इन प्रश्न पत्रों में संबंधित थाना क्षेत्रों में रखा जा रहा है। दसवीं परीक्षा की तिथि घोषित होने के साथ ही नई समय सारिणी भी जारी कर दी जाएगी।

गाइडलाइन पहले ही जारी
कोरोना काल में बोर्ड परीक्षाएं कैसे आयोजित की जाएंगी इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने पहले ही गाइडलाइन जारी कर रही है। नए नियमों के तहत सभी परीक्षार्थियों का का प्रवेश द्वार में तापमान और मास्क की जांच की जाएगी। कोरोना संक्रमित छात्रों के लिए अलग से परीक्षा में बैठने के इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा किसी भी परीक्षा केंद्र के क्लास रूम में क्षमता से 50 फीसदी छात्र ही सोशल डिस्टेसिंग के साथ परीक्षा दे सकेंगे। 12वीं की परीक्षाएं अपने तय समय में आयोजित की जाती हैं तो इसी गाइडलाइन के तहत ही छात्रों को परीक्षा देनी होगी।

खबरें और भी हैं...