आत्महत्या:पति की प्रताड़ना से तंग आकर शिक्षिका ने जहर खाकर जान दी

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कस्बे की निवासी शिक्षिका ने अपने पति के व्यवहार से तंग आकर जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जिसका बुधवार को गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार किया गया। मंडावर थानाप्रभारी मुरलीधर नागर ने बताया कि शिक्षिका मोनिका बारां जिले के कवाई में तृतीय श्रेणी शिक्षिका के पद पर कार्यरत थी। वह मंगलवार शाम बस से लौट रही थी कि रास्ते में उसकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर मंडावर में उतर गई। शाम 6 बजे करीब लोगों ने उसकी तबीयत बिगड़ने के बारे में बताया। इस पर उसे झालावाड़ ले जाकर अस्पताल में भर्ती कराया। महिला ने कीटनाशक का सेवन कर रखा था। इसके बाद उसके परिजनों को सूचना दी गई। जिसकी इलाज के दौरान रात में मृत्यु हो गई। बुधवार को पोस्टमार्टम कर शव पिता को सौंप दिया।
पति पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का केस
मृतका के पिता विष्णु प्रसाद कारपेंटर ने बताया कि बारां कवाई निवासी पति मनोज कुमार उसे लंबे समय से प्रताड़ित कर रहा था, जिससे वह परेशान चल रही थी। पति के खिलाफ दहेज प्रताड़ना सहित मुकदमा दर्ज करवा रखा था और वह अपने पीहर में रह रही थी। 2 माह पूर्व न्यायालय से राजीनामा करवाकर वह मोनिका को अपने साथ ले गया। उसके खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज कराया गया।
15 वर्ष पूर्व हुआ था विवाह: मृतका के भाई गुलशन कारपेंटर ने बताया कि बहन का विवाह 15 वर्ष पूर्व मनोज के साथ हुआ था। उसकी बहन सरकारी शिक्षिका के पद पर कार्यरत थी। कई सालों से पति उसे परेशान कर रहा था। 2 माह पूर्व रायपुर से विद्यालय में डेली अपडाउन कर रही थी। उसकी 10 वर्षीय पुत्री अपने पिता के पास ही रह रही थी।

खबरें और भी हैं...