डमरू में विरोध:पहले समिति देगी बारदाने, खत्म होने पर किसान लाएंगे

डमरु2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डमरु खरीदी केंद्र में करीब 1400 किसानों से डेढ़ लाख कट्टा धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर होना है। इस खरीदी केंद्र में 800 छोटे किसान हैं, वहीं 600 किसान ढाई एकड़ से ज्यादा के है। यहां प्रतिदिन 4 हजार कट्ठा धान की खरीदी समिति को करनी है। किसान मंगलवार को जब टोकन कटवाने पहुंचे तो वहां पर पुराने बारदाने न होने का हवाला देकर समिति कर्मियों ने किसानों से आधे बारदाने लेकर आने को कहा। इससे नाराज सैकड़ों किसान खरीदी केंद्र पर धरना प्रदर्शन करने लगे।

स्थिति बिगड़ती देख मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने किसानों को समझाया कि सोसाइटी में पुराने बारदाने नहीं हैं और पुराने और नए बारदाने मिलाकर ही धान खरीदी का नियम है। आखिर में तय किया गया कि समिति में जितने बारदाने हैं उतने में किसानों का धान खरीदी जाएगा। जब बारदाना खत्म हो जाएगा तब धान बेचने के लिए किसान खुद अपने बारदाने लेकर आएंगे। इस पर किसानों और कर्मियों में सुलह हो गई और फिर दोपहर बाद करीब 37 किसानों के 720 क्विंटल धान (1750 कट्टा) के टोकन कटे। 36 किसानों ने 700 क्विंटल धान बेचा जबकि एक किसान नहीं आया।

खबरें और भी हैं...