गिरोह के सरगना नाइजीरियाई युवक गिरफ्तार:सोशल मीडिया में विधवा और महिलाओं से दोस्ती फिर झांसा देकर लाखों की ठगी

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजधानी की महिला से 24 लाख की ठगी में दिल्ली से नाइजीरियन गिरफ्तार

सोशल मीडिया में विधवा या अधिक उम्र की कामकाजी महिलाओं से दोस्ती कर उनसे ठगी करने वाला नाइजीरियाई गिरोहा का भांडा फूट गया है। पुलिस ने दिल्ली में छापा मारकर गिरोह के सरगना नाइजीरियाई युवक को गिरफ्तार किया। ठग ने शिवानंद नगर की महिला से दोस्ती कर उससे 24 लाख की ठगी की थी। महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने तहकीकात की और बैंक खाते की मदद से ठग तक पहुंच गई। जालसाज के पकड़े जाने के बाद पता चला कि वह अधिक उम्र की अविवाहित व विधवा महिला से दोस्ती कर उनसे ठगी करता है।

पुलिस नाइजीरियाई आरोपी आउत्तरा से पूछताछ कर रही है। आरोपी बेहद शातिर है। उसने ठगी के सारे पैसे विदेश ट्रांसफर कर दिए हैं। पुलिस के अनुसार आरोपी ने सोशल मीडिया में अलग-अलग नाम और आईडी से अपना प्रोफाइल बनाया है। वह लोगों को इंप्रेस करने के लिए सोशल मीडिया में खुद को लंदन या यूरोप का कारोबारी बताता है। आरोपी बेहद चालाकी से ऐसी महिलाओं को तलाश करता है जो अधिक उम्र होने के बावजूद अविवाहित है या जिन्हें पति ने छोड़ दिया है। विधवा महिलाएं भी उसके निशाने पर रहती हैं। आरोपी को जब यकीन हो जाता है कि अब महिला उसकी बात नहीं टालेगी तब वह विदेश से कोई गिफ्ट भेजने का झांसा देता है।

उसके बाद महिला से कस्टम से गिफ्ट छुड़वाने के नाम पर ठगी की जाती है। नाइजीरियन ठग आउत्तरा ने शिवानंद नगर की 45 साल की महिला को इसी फार्मूले से जाल में फंसाया। पहले दोस्ती की। उन्हें अपनी बातों में उलझाया। उसने विदेश से महंगा गिफ्ट भेजने का झांसा दिया। महिला ने मना भी किया कि उन्हें गिफ्ट नहीं चाहिए, लेकिन वह नहीं माना। महिला को कुछ दिन बाद मुंबई एयरपोर्ट अथॉरिटी के नाम से फोन आया। उन्हें पार्सल छुड़वाने के लिए टैक्स जमा करने को कहा गया। इसके बाद फिर फोन आया और पैसा मांगा गया। इस तरह से अलग-अलग सर्विस टैक्स के नाम से महिला से 24 लाख ले लिए गए। उसके बाद महिला को ठगी का अहसास हुआ।

30 मोबाइल और सिम जब्त
पुलिस ने आउत्तरा के पास से 30 मोबाइल और सिम जब्त किया है। सभी दिल्ली में रहने वाले लोगों के नाम से है। इसके अलावा 5 लैपटॉप, एटीएम, पासपोर्ट और वीजा जब्त किया गया है।

भारतीय युवती से शादी की और उसकी आईडी से खुलवाया खाता
पुलिस के जाल में फंसा मूलत: नाइजीरिया का आउत्तरा(29) ने टूरिस्ट वीजा लिया है। उसने दिल्ली के द्वारिका में किराए का मकान लिया। वहां तीन दर्जन से ज्यादा नाइजीरियन रहते हैं। ठगी का जाल फैलाने के लिए आउत्तरा ने भारतीय युवती से शादी की। महिला की लोकल आईडी से उसने खाता खुलवाया और उसी से सिम खरीदा। महिला के माध्यम से उसने कई लोगों से संपर्क किया। उनसे कमीशन पर एटीएम व पासबुक ली। उनके नाम से सिम भी खरीदा है। आउत्तरा ने सोशल मीडिया में अलग-अलग नाम से फर्जी आईडी बनाया है। वह सोशल मीडिया में विधवा और अधिक उम्र की महिला की प्रोफाइल सर्च करता है। फिर महिला को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजता है।

पैसा देकर करवाते हैं फोन
पुलिस की जांच में पता चला है कि ठगी करने वाले नाइजीरियन पैसा देकर फोन करवाते हैं। दिल्ली में दूसरे राज्यों से आकर मजदूरी करने वालों को वे मोटी रकम देने का झांसा देते हैं। लोग पैसों की लालच में जैसा वे कहते हैं वैसा फोन करते हैं। आउत्तरा ने भी कई लोगों को कमीशन में एजेंट रखा है। वही एयरपोर्ट अथॉरिटी से लेकर अलग-अलग अधिकारियों के नाम से फोन करते हैं और खाते में पैसा जमा करते हैं।

इधर, विदेश से गिफ्ट भेजने का झांसा देकर साढ़े 5 लाख की ठगी
विदेश से गिफ्ट भेजने का झांसा देकर जालसाज ने बोरियाखुर्द की युवती से साढ़े 5 लाख की ठगी कर ली। ठग ने सोशल मीडिया में युवती से दोस्ती की। उसके बाद विदेश से गिफ्ट भेजने का झांसा दिया गया। उसने अलग-अलग किश्त में युवती से पैसा जमा कराया। तीन दिन में युवती ने खाते में पैसा भी जमा कर दिया। उसके बाद गिफ्ट नहीं आया। पुलिस को शक है कि दिल्ली में बैठे नाइजीरियन ने ठगी की है।

पुलिस अफसरों ने बताया कि बोरियाखुर्द की 38 साल की युवती प्राइवेट नौकरी करती है। सोशल मीडिया में उसकी एक युवक से दोस्ती हुई। दोनों में बातचीत होने लगी। युवक ने उसका फोन नंबर ले लिया और वाट्सएप पर चैट करने लगा। उसने युवती को विदेश से गिफ्ट भेजने का झांसा दिया। 1 अगस्त को युवती के पास एयरपोर्ट से फोन आया कि उनका पार्सल आ गया। उसे छुड़वाने के लिए पैसा मांगा गया। युवती ने फिर अपने दोस्त से संपर्क किया। उसने पैसा जमा करने के लिए कहा। युवती ने तीन दिन में पैसा जमा कर दिया। उसके बाद ठग की असलियत सामने आई।

खबरें और भी हैं...