ऑयल की कीमत करीब 5 लाख रुपए आंकी गई:नकली इंजन ऑयल लेकिन ब्रांडेड कंपनियों के स्टीकर भनपुरी में पकड़ा गया गिरोह

रायपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जब्त ब्रांडेड कंपनियों के स्टीकर। - Dainik Bhaskar
जब्त ब्रांडेड कंपनियों के स्टीकर।

भनपुरी के गोल्डन मार्केट में नकली इंजन ऑयल की फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। यहां खराब तेल में केमिकल मिलाकर इंजन ऑयल बनाया जा रहा था। कंपनी वालों की शिकायत पर पुलिस ने गुरुवार को छापा मारा। फैक्ट्री से 3136 लीटर नकली ऑयल जब्त किया गया है, जिसकी कीमत 4 लाख 83 हजार बताई जा रही है।

फैक्ट्री से 12 से ज्यादा ब्रांडेड कंपनियों के स्टीकर और टैग भी जब्त किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि कटोरा तालाब निवासी राकेश पिंजवानी का भनपुरी में गोदाम है। वहीं नकली ऑयल की फैक्ट्री चल रही थी। फैक्ट्री में जले और खराब तेल में केमिकल डालकर इंजन ऑयल बनाया जा रहा था। नकली ऑयल देखने में बिलकुल असली जैसा दिखाई देता है। नकली ऑयल को पाउच, डिब्बे और बाल्टी में अलग-अलग मात्रा में पैक कर मार्केट में सप्लाई किया जा रहा था। पाउच और डिब्बे पर ब्रांडेड कंपनियों के टैग व स्टीकर लगाए जाते थे, ताकि लोग झांसे में आ जाएं और देखने में असली जैसा लगे। उसकी पैकिंग भी बिलकुल ब्रांडेड कंपनियों की तरह की जाती थी, ताक आम लोग असली-नकली ऑयल में फर्क न कर सकें। पुलिस को यह भी पता चला है कि आरोपी छत्तीसगढ़ के कई शहरों और कस्बों में इसकी सप्लाई करता था। यहां बाइक, कार से लेकर बड़ी गाड़ियों के लिए नकली ऑयल बनाया जा रहा था। पुलिस ने कंपनी से कुछ दस्तावेज जब्त किए है, जिसकी जांच चल रही है।

खबरें और भी हैं...