सीएम भूपेश ने किया विकास कार्यों का का शिलान्यास:किसानों को खेतों तक पहुंचने की सुविधा बढ़ाएगी सरकार, शुरू होगी धरसा योजना

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम भूपेश ने बलौदाबाजार और महासमुंद जिलों में विकास योजनाओँ का किया भूमिपूजन - Dainik Bhaskar
सीएम भूपेश ने बलौदाबाजार और महासमुंद जिलों में विकास योजनाओँ का किया भूमिपूजन
  • लॉकडाउन में मजदूरों को भूख भविष्य की चिंता से बचाने के लिए किया पूरी ताकत से काम

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि किसानों को उनके खेतों तक सुविधाजनक पहुंच के लिए प्रदेश में जल्द ही धरसा विकास योजना प्रारंभ की जाएगी तथा मुख्यमंत्री वृक्षारोपण योजना को राजीव गांधी किसान न्याय योजना से जोड़ते हुए किसानों के लिए आय का नया रास्ता खोला गया। मुख्यमंत्री ने बलौदाबाजार-भाटापारा और महासमुंद जिले में लगभग 565 करोड़ रूपए की लागत के 1430 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन के दौरान यह बातें कहीं।

सीएम भूपेश ने कहा कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर से विकास के जो काम प्रभावित हुए थे, उन्हें अब पूरी रफ्तार के साथ पूरा किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कहा कि कोरोना की चुनौती के बावजूद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश के विकास का पहिया नहीं थमा। उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि गोबर खरीदने वाली देश-दुनिया में छत्तीसगढ़ पहली सरकार है। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने जनप्रतिनिधियों से निर्माण कार्याे की सतत मॉनिटरिंग करने का आग्रह किया। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि हमने जो वायदा किया था, उसे राज्य सरकार पूरा कर रही है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि अंग्रेजी माध्यम में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दिलाने के लिए अंग्रेजी माध्यम स्कूल प्रारंभ किए गए हैं। पीएचई मंत्री रूद्र गुरू ने बताया कि गिरौदपुरी धाम के लिए 60 करोड़ रूपए की लागत की गु्रप वाटर स्कीम स्वीकृत की गई है।

पापुनि अध्यक्ष की मांग पर सड़क
उन्होंने पापुनि अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी की मांग पर बलौदाबाजार जिले के पाहंदा से लिमाही होते हुए रायपुर तक पुल सहित पक्की सड़क के लिए 6 करोड़ रूपए की स्वीकृति और बलौदाबाजार में ठेठवार यादव समाज के लिए सामुदायिक भवन निर्माण के लिए भूमि आबंटन होेेने पर 20 लाख रूपए की स्वीकृति देने का आश्वासन दिया।

अस्पतालों में बढ़ेगा स्टाॅफ; नए मेडिकल काॅलेजों में होगी पूरी फैकल्टी, एनएमसी से मान्यता के लिए लगाएंगे जोर

प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में स्टाफ बढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही कांकेर, महासमुंद और कोरबा में शुरू हो रहे नए मेडिकल कॉलेजों में पर्याप्त फैकल्टी एवं स्टॉफ रखा जाएगा। इससे इन कॉलेजों के संचालन और नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) से मान्यता हासिल करने में सहायता मिलेगी। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला और सचिव शहला निगार तथा सीनियर अफसरों की बैठक ली। इसमें स्वास्थ्य सेवाएं, चिकित्सा शिक्षा और आयुष विभाग के कामकाज की रिपोर्ट ली। सिंहदेव ने तीनों विभागों के अधीन सभी संस्थानों में पात्र अधिकारियों-कर्मचारियों को पदोन्नति देने को कहा। उन्होंने इन विभागों में संविदा या अनुबंध वाले स्टॉफ के स्थान पर नियमित अधिकारियों-कर्मचारियों की नियुक्ति को प्राथमिकता देने भी कहा।

186 अस्पताल बन रहे हैं
स्वास्थ्य संचालक नीरज बंसोड़ ने बताया कि प्रदेश में अभी 113 उप स्वास्थ्य केंद्रों, 60 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और 13 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए नए भवन बन रहे हैं। सीजीएमएससी इन्हें बना रहा है। राज्य में 58 लाख 27 हजार 384 परिवारों के एक करोड़ 32 लाख 95 हजार 235 सदस्यों के आयुष्मान कॉर्ड बनाए जा चुके हैं। मेडिकल कॉलेजों की अर्जी रद्द करना छग विरोधी रवैय्या: सिंह : कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने कहा कि जीएसटी पेमेंट नहीं होने पर मेडिकल कॉलेजों की अर्जी रद्द करना केन्द्र सरकार का छत्तीसगढ़ विरोधी रवैया है। कोविड महामारी के समय जब देश में चिकित्सा संस्थानों की जरूरत महसूस की जा रही औैर छत्तीसगढ़ सरकार इस दिशा में आगे बढ़ रही थी ऐसे समय में मोदी सरकार की इस तरह की अड़ंगेबाजी अनुचित है।

छात्रा की फर्राटेदार अंग्रेजी सुन चकित हुए मुख्यमंत्री
बलौदाबाजार जिले में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल की कक्षा नवमीं की छात्रा कामाक्षी देवांगन ने सीएम भूपेश से अंग्रेजी में बात की। अंग्रेजी में परिचय देते उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी देते हुए मीनाक्षी ने बताया कि वह कक्षा 9वीं में पढ़ती हैं। हमारा स्कूल बहुत अच्छा है, इस स्कूल में अच्छी अधोसंरचना विकसित की गई है। शैक्षणिक वातावरण काफी अच्छा और आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित है। मुख्यमंत्री सरकारी अंग्रेजी स्कूल के बच्चों का अंग्रेजी ज्ञान और आत्मविश्वास देखकर काफी खुश हुए और उन्हें उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

खबरें और भी हैं...