पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आदिवासी इलाकों की कई खामियां गिनवाई:राज्यपाल उइके का सीएम को पत्र; टीके नहीं लगवाने पर दे रहे राशन कार्ड रद्द करने की धमकी

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आदिवासी इलाकों बस्तर एवं सरगुजा में अस्पतालों में आईसीयू व ऑक्सीजन सिलेंडरों की बहुत कमी है। इस कमी को शीघ्र दूर करें। आरटीपीसीआर जांच की सुविधा बढ़ाएं। जांच के बाद तत्काल रिपोर्ट देकर इलाज शुरू कराए जाने की व्यवस्था करें। जनजातियों में टीकाकरण की जागरूकता एवं सुविधा बढ़ाने की आवश्यकता है लोगों को टीकाकरण नहीं कराने पर राशन कार्ड रद्द करने की धमकी दी जा रही है। इसे रोका जाए।

राज्यपाल अनुसुइया उइके ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पत्र में ये कमियां गिनाईं हैं। उइके ने कहा है कि आक्सीजन सिलेंडर सप्लाय एवं अस्पतालों में भोजन व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता है। ग्रामीण आदिवासी क्षेत्रों में रोगी वाहन एवं शववाहन की सुविधा की बहुत कमी है, प्राइवेट एंबुलेंस वाले अत्यधिक अधिक राशि मांग रहे हैं इस व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता है। गरीब परिवार के व्यक्तियों के लिए रियायती दर या निशुल्क उपलब्ध कराए जाने की आवश्यकता है। गंभीर मरीजों को इलाज हेतु प्राइवेट हास्पिटल में बेड उपलब्ध कराने की व्यवस्था करवाने की आवश्यकता है।

नेताओं की बैठक ली थी राज्यपाल ने
मालूम हो कि राज्यपाल ने कुछ दिन पहले प्रदेश के आदिवासी समाज के प्रमुख व्यक्तियों के साथ बैठक की थी। इसमें सुदूर ग्रामीण अंचलों में जनजाति समाज की कोविड संक्रमण एवं सुझावों पर चर्चा की। समाज के प्रमुखों ने समस्याओं एवं उनके सुझावों से उइके को अवगत कराया कि प्रदेश में आदिवासी बाहुल्य ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी है। इसलिए स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की आवश्यकता है।

खबरें और भी हैं...