मौसम अलर्ट:गुलाब तूफान ओडिशा व आंध्र तट से टकराया, आज बस्तर में होगी बारिश

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से घूमने वाली हवा ओडिशा से बस्तर पहुंचेगी। - Dainik Bhaskar
50 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से घूमने वाली हवा ओडिशा से बस्तर पहुंचेगी।

चक्रवाती तूफान गुलाब रविवार शाम काे ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तट से टकरा गया। इसके असर से प्रदेश के दक्षिण हिस्से यानी बस्तर तथा लगे इलाकों में सोमवार को सुबह कुछ जगह तेज हवा के साथ अतिभारी बारिश की आशंका है। हवा की रफ्तार 50 से 60 किमी प्रतिघंटा हो सकती है। तूफान के असर से मध्य और उत्तरी छत्तीसगढ़ में कहीं-कहीं पर मध्यम वर्षा संभव है।

तूफान का असर कम होने के बाद भी बारिश के हालात 28 और 29 सितंबर तक बने रहेंगे। मौसम विभाग ने तूफान के असर को ध्यान में रखते हुए बस्तर तथा लगे इलाकों के लिए एलर्ट जारी किया है। इस आधार पर बस्तर के सभी जिलों में प्रशासन ने एहतियाती उपाय किए हैं। रविवार को दोपहर तक तूफान आंध्रप्रदेश के कलिंगपट्टनम तट से 130 और ओडिशा को गोपालपुर से 110 किलोमीटर दूर था।

मौसम विभाग के अनुसार यह रविवार-सोमवार की मध्य रात तक इन दोनों तट से टकराएगा। समुद्र से जमीन पर आते ही इन दोनों राज्यों के साथ प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में भी अच्छी बारिश होगी। शेष राज्यो में भी हल्की से मध्यम वर्षा होगी। वैसे, प्रदेश में शनिवार से बारिश शुरू हो गई है।

पिछले 24 घंटे के दौरान कवर्धा में 60 और बेरला में 50 मिमी पानी गिरा। साजा, मुंगेली में 40, पाटन, कुरुद, मगरलोड, कुआकोंडा में 30 मिमी तथा अन्य कई जगहों पर 20 मिमी और उससे कम बारिश हुई। रविवार को दिन में भी राजनांदगांव, दुर्ग, पेंड्रारोड और जगदलपुर में हल्की बारिश हुई। रायपुर में भी कुछ जगहों पर हल्की बारिश और बूंदाबांदी हुई।

मौसम विभाग का कहना है कि तट से टकराने के बाद तूफान की गोल घूमने की गति कम हो जाएगी, लेकिन 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से घूमने वाली हवा ओडिशा से होते हुए बस्तर पहुंचेगी। हवा के साथ बड़ी मात्रा में आने वाली नमी से ही राज्य में बारिश होगी। अगर दो-तीन दिनों तक इसका असर रहेगा।

सीजनल बारिश बढ़ेगी, अब तक 4% कम पानी गिरा
गुलाब तूफान के असर से प्रदेश में 30 सितंबर तक अच्छी बारिश होगी। इससे राज्य में मानसून की सीजनल बारिश बढ़ जाएगी। 26 सितंबर तक प्रदेश में 1085.1 मिमी बारिश हो चुकी है। इस दौरान की औसत 1128.2 मिमी है। यानी अब तक औसत से 4 फीसदी कम बारिश हुई है। अगले दो-तीन दिन में भारी बारिश होगी। इससे बारिश की कमी घट जाएगी। ऐसा अनुमान है कि मानसून सीजन के आखिरी दिन यानी 30 सितंबर तक बारिश औसत (1159 मिमी) से अधिक हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...