सीएम ने पेश किया 2108 करोड़ रुपए का अनुपूरक बजट:स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि केंद्र 20 हजार करोड़ रुपए दे तो सभी समस्याओं का हो जाएगा हल

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यवाही स्थगित होने के बाद भाजपा विधायक विधानसभा परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरने पर बैठ गए। - Dainik Bhaskar
कार्यवाही स्थगित होने के बाद भाजपा विधायक विधानसभा परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरने पर बैठ गए।

विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरा दिन हंगामेदार रहा। प्रश्नकाल के पहले ही प्रश्न में सत्तापक्ष और विपक्ष के विधायक आपस में उलझ गए। प्रधानमंत्री आवास योजना का पैसा हितग्राहियों को नहीं दिए जाने को लेकर भाजपा ने सवाल उठाए। उन्होंने यह भी कहा कि क्या राज्य सरकार 60-40 अनुपात वाली सभी योजनाओं को केन्द्र को वापस करेगी क्या। इसके जवाब में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि केन्द्र सरकार यदि राज्य का 20 हजार करोड़ रुपए जारी कर दे तो सभी समस्या का हल हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि हम लोन लेकर इस साल के लक्ष्य की पूर्ति करने वाले थे लेकिन इस बीच केन्द्र सरकार ने योजना ही वापस ले ली। दरअसल प्रश्नकाल में भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने पूछा कि 30 अक्टूबर तक 21 तक कितने आवास आवंटित हुए। चंद्राकर के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, साल 2020-21 के लिए केंद्र सरकार ने 7 लाख 81 हजार 999 मकान बनाने का लक्ष्य तय किया था जिसे केंद्र सरकार ने वापस ले लिया है। अक्टूबर 21 तक कोई आवास स्वीकृत नहीं हुए हैं।

उन्होने बताया कि 2019-20 में राज्यांश 762.81 करोड़ व केन्द्रांश 1144.21 करोड़ की आवश्यकता थी लेकिन राज्य से राशि नहीं मिली तथा केन्द्र से 843 करोड़ रुपए मिले वहीं 20-21 में राज्यांश 800 करोड़ तथा राज्यांश 1200 करोड़ की आवश्यकता है लेकिन राशि नहीं मिली है। चंद्राकर ने कहा कि दुनिया के किसी भी राज्य में ऐसा नहीं कहा गया होगा कि गरीबों के आवास के लिए पैसा नहीं है। धरमलाल कौशिक ने कहा कि इस मामले पर केन्द्र ने राज्य को कई बार पत्र भेजे लेकिन राज्य ने कोई जवाब नहीं दिया। बृजमोहन इस मामले की सदन की कमेटी से जांच की मांग भी की। नारायण चंदेल ने कहा कि यह समारु,बुधारु, डहारु का मामला है। पूर्व सीएम रमन सिंह ने कहा कि गरीबों की पीड़ा सरकार को है ही नहीं। यह सिर्फ गरीबों को कुचलने में ही लगी है। केशव चंद्रा ने कहा कि जिन लोगों ने कर्ज लेकर घर बनवा लिया उनको बकाया किश्त कब तक देंगे।

स्पीकर डॉ. चरणदास महंत व सीएम भूपेश बघेल ने विधानसभा परिसर स्थित स्पीकर के नवनिर्मित कक्ष का उद्घाटन किया।
स्पीकर डॉ. चरणदास महंत व सीएम भूपेश बघेल ने विधानसभा परिसर स्थित स्पीकर के नवनिर्मित कक्ष का उद्घाटन किया।

सीएम भूपेश और स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव के बीच एकांत में चर्चा
विधानसभा में सीएम भूपेश बघेल व स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की अकेले में लंबी चर्चा हुई। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों को लेकर बातचीत होने की बात कही जा रही है। बताया गया है कि मीडिया से बातचीत के बाद सीएम भूपेश और संसदीय कार्यमंत्री रविंन्द्र चौबे आपस में बात कर रहे थे। तभी स्वास्थ्य मंत्री सीएम के कमरे में पहुंचे। बताते हैं कि सिंहदेव के पहुंचते ही चौबे कमरे से बाहर निकल गए। इस दौरान पार्टी से जुड़े नेताओं के खिलाफ हो रही कार्रवाई को लेकर भी बातचीत हुई। दोनों नेताओं के बीच निरंतर संवाद स्थापित करने तथा एकजुटता के साथ काम करने की बात होने की चर्चा है।

बिलासपुर में 300 बिस्तरों का मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल
बिलासपुर विधायक शैलेश पांडेय के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने बताया कि यहां न्यूरोलॉजी, न्यूरोसर्जरी, कार्डियोलॉजी, सीटीवीएस नेफ्रोलॉजी, यूरोलॉजी से संबंधित बीमारियों का इलाज किया जाना प्रस्तावित है। 300 बिस्तरों की क्षमता वाले अस्पताल का निर्माण जल्द पूरा हो जाएगा। विधायक पाण्डेय ने बताया कि वर्तमान सिम्स में सभी तरह के बेसिक इलाज की सुविधा उपलब्ध है लेकिन सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल बनने से कम खर्च में अधिक सुविधा मिलेगी। एक ही परिसर में सब कुछ रहेगा कोनी में शासन ने सिम्स को 50 एकड़ जमीन दी है। इसमें से 10 एकड़ में राज्य के प्रथम कैंसर हॉस्पिटल का निर्माण किया जाएगा। इसी परिसर में से 40 एकड़ भूमि पर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल व अन्य जरूरी इकाइयां रहेंगी। हार्ट, कैंसर सहित सभी गंभीर बीमारियों के लिए तैयार हो रहा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, इमरजेंसी सुविधा भी रहेगी।

एंटीजन किट की देर से सप्लाई के लिए फर्म को जिम्मेदार बताया
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि विभाग द्वारा रैपिड एंटीजन किट की खरीदी की गई थी। इसमें देरी से आपूर्ति करने व आपूर्ति नहीं करने के लिए फर्म ऑस्कर मेडिकेयर प्राइवेट लिमिटेड को जिम्मेदार ठहराया है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने सवाल किया था। जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि ्ऑस्कर मेडिकेयर द्वारा पहले 5 दिन, फिर 6 दिन की देरी की गई। इसके बाद आपूर्ति नहीं की गई।

खबरें और भी हैं...