इश्क के चक्कर में फंसा पति:पत्नी को तलाक देकर दूसरी शादी की, फिर किसी और पर आ गया दिल, तो किया तीसरा ब्याह; अब महिला आयोग करेगा कार्रवाई

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रायपुर के महिला आयोग में सुनवाई के दौरान अपनी परेशानियां बताती महिलाएं। - Dainik Bhaskar
रायपुर के महिला आयोग में सुनवाई के दौरान अपनी परेशानियां बताती महिलाएं।

महिला आयोग में मंगलवार को सुनवाई के दौरान शिकायत लेकर आई एक महिला ने बताया कि उसके पति ने तीन शादियां की हैं। पहली पत्नी से तलाक लेकर दूसरी बार ब्याह रचाया फिर दूसरी पत्नी को बिना बताए एक और युवती को पत्नी बना लिया। इस शिकायत पर मंगलवार को आयोग ने आरोपी पति को पेशी में बुलाया था। जब आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक ने पूछताछ की तो पति ने कहा- हां मुझ से गलती हुई है।

महिला आयोग में सुनवाई के दौरान सदस्य।
महिला आयोग में सुनवाई के दौरान सदस्य।

आयोग को महिला ने बताया कि पति ने पहली पत्नी से तलाक लेकर कुछ साल पहले उससे शादी की थी। हम साथ ही रह रहे थे। ससुराल में मेरे जेठ, जेठानी और ससुर रहते हैं। पिछले कुछ वक्त से पति की हरकतों, घर पर न रहने की आदत को लेकर महिला ने पूछताछ की तो उसे तीसरी शादी के बारे में पता चला। आयोग के सामने युवक ने कबूला कि तीसरी शादी को 3 साल हो चुके हैं। अब महिला को ससुराल वाले युवक का पक्ष लेकर घर से निकालने की धमकियां दे रहे हैं। संपत्ति में भी अधिकार देने से मुकर रहे हैं। इस पर आयोग ने कहा कि इस मामले में कार्रवाई की जाएगी, महिला के ससुराल वालों को अगली तारीख में आयोग के दफ्तर में हाजिर होने को कहा गया है। तब आगे की सुनवाई की जाएगी।

8 मामलों का हुआ निपटारा
राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक और सदस्यगण अनीता रावटे, शशिकांता राठौर, अर्चना उपाध्याय की उपस्थिति में महिलाओं से संबंधित शिकायतों के निराकरण के लिए सुनवाई की गई। 20 मामलों में से 8 मामलों का निपटारा किया गया। अन्य प्रकरणों में अब अगली सुनवाई होगी। एक मामले में महिला ने अपने ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत में कहा था कि उसके पति की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है और ससुराल के लोग उसका इलाज नहीं करवा रहे। आयोग ने परिजनों को इलाज करवाने के निर्देश दिए। एक प्रकरण में सम्पत्ति के दावे का विवाद था। इस मामले में आयोग ने एक अधिवक्ता को नियुक्त किया। अब ये वकील कानूनन बंटवारा करवाएंगे।

खबरें और भी हैं...