दर्ज होगा केस:परिवार में 2 से ज्यादा पॉजिटिव तो घर सील, फोन रिसीव नहीं करने पर रिपोर्ट

रायपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजधानी में कोरोना विस्फोट के बाद अब एक परिवार में 2 या उससे ज्यादा पॉजिटिव केस निकलने पर मकान को सीधे सील कर दिया जाएगा। ऐसे मकानों के बाहर स्टिकर लगाकर लोगों को सावधान किया जाएगा। संक्रमित होने के बाद जो लोग कंट्रोल रूम का फोन रिसीव नहीं कर रहे हैं। ये भी नहीं बता रहे हैं वे किस हाल में हैं और कहां? कैसे इलाज करवा रहे हैं? उनके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत केस दर्ज किया जाएगा।

प्रशासन के पास लगातार इस बात की शिकायत पहुंच रही है कि कोरोना टेस्ट कराने के बाद पॉजीटिव आए लोग कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम का फोन रिसीव नहीं कर रहे हैं। वे यह भी नहीं बता रहे हैं कि वे किनके संपर्क में आए थे। इससे संक्रमित के संपर्क में आने वालों का पता नहीं चल पा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने वालों का जल्दी चल जाने पर संक्रमण के फैलाव को रोकने में मदद मिलेगी। संक्रमित के संपर्क में आने वाले का पता लगाकर उनकी जांच की जा सकेगी।

पॉजिटिव निकलने पर उनका भी इलाज किया जल्दी शुरू हो सकेगा, लेकिन पॉजिटिव निकलने वाले ही ये नहीं बता रहे हैं कि वे पिछले दो-तीन दिनों के दौरान किन लोगों के संपर्क में आए हैं। अब संक्रमित निकलने बाद फोन रिसीव नहीं करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिए अफसरों को निर्देश दे दिए गए हैं।

कलेक्टर सौरभ कुमार ने शुक्रवार अफसरों की बैठक में कहा कि इस तरह की लापरवाही करने वाले लोगों के साथ कोई ढिलाई नहीं की जाएगी। उन्होंने अफसरों से कहा है कि घर को सील करने का विरोध करने वाले लोगों के साथ सख्ती से निपटा जाए। किसी भी मकान में 5 या उससे ज्यादा मरीज मिलने पर उस इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया जाएगा। उसके बाद कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार पाबंदियां वहां लागू की जाए।

खबरें और भी हैं...