पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीके को लेकर टीचर्स ही आशंकित:अगर हमें कुछ हो गया तो हमारे परिवार को कौन संभालेगा, इसलिए नहीं लगवाया टीका

रायपुर13 दिन पहलेलेखक: जॉन राजेश पॉल
  • कॉपी लिंक
शिक्षा विभाग के सर्वे में टीके न लगवाने के अजीब कारण। - Dainik Bhaskar
शिक्षा विभाग के सर्वे में टीके न लगवाने के अजीब कारण।

एक तरफ स्कूल दो अगस्त से खुलने जा रहे हैं, दूसरी तरफ शिक्षकों के मन से अभी डर नहीं गया है। शिक्षा विभाग ने स्टाफ के लिए वैक्सीनेशन की व्यवस्था की, लेकिन कई शिक्षक अभी टीका नहीं लगवा रहे हैं। उनके अंदर टीकाकरण को लेकर कई तरह की आशंकाएं हैं। ऐसे में बिना टीका लगाए वे स्कूल में बच्चों को पढ़ाने नहीं जा सकेंगे। शिक्षकों से तय फार्मेट में जानकारी मांगी गई थी कि उन्होंने टीके लगवाए या नहीं। यदि नहीं तो क्यों? इसे लेकर कई शिक्षकों ने दिलचस्प जवाब दिए हैं। करीब पौने चार हजार शिक्षकों ने कहा कि टीका लगाने पर उन्हें यदि कुछ हो गया तो उनके घर पर कोई संभालने वाला नहीं है।

स्कूल खोलने के पहले शिक्षा विभाग की स्पेशल टीम ने प्रदेश में शिक्षकों के वैक्सीनेशन को लेकर 11053 स्कूल स्टाफ पर सर्वे किया। इसमें अकादमिक व गैर अकादमिक दोनों तरह के लोग शामिल हैं। करीब एक हजार शिक्षकों का जवाब था कि उन्हें वैक्सीन पर भरोसा नहीं है। कुछ शिक्षकों ने लिखा कि वे टीका लगवाने तो गए थे, लेकिन वैक्सीन खत्म हो गई थी। इसके बाद वे दोबारा वैक्सीन लगवाने गए कि नहीं इसकी जानकारी शिक्षा विभाग ने नहीं पूछी है। कुछ टीचर्स ने टीका नहीं लगाने की वजह तक नहीं बताई।

तीसरी लहर आएगी तो स्कूल बंद करेंगे: शिक्षा मंत्री

  • सभी परिस्थितियों के अध्ययन के बाद सरकार ने यह फैसला किया है। इसलिए पहले बड़े बच्चों के लिए खोले जा रहे हैं। स्कूलों में बच्चों का पूरा ध्यान रखा जाएगा। तीसरी लहर आने की स्थिति में स्कूल बंद करने के भी उपाए किए जाएंगे। - डा.प्रेमसाय सिंह, मंत्री स्कूल शिक्षा
खबरें और भी हैं...