इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय:टॉप कृषि विवि में आईजीकेवी 16वां, पिछली बार था 23वां

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय (आईजीकेवी) को देश के टॉप कृषि विश्वविद्यालयों की सूची में 16वां स्थान मिला है। पिछली बार विवि को 23वें नंबर पर रखा गया था। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) ने कृषि विश्वविद्यालयों की यह रैंकिंग जारी की है। देश में 72 कृषि विश्वविद्यालय हैं। इसमें 16वां स्थान मिलना बड़ी उपलब्धी मानी जा रही है। शिक्षाविदों ने बताया कि डॉ.एसके पाटिल दो बार इस विवि के कुलपति रहे।

इस दौरान शिक्षा, अनुसंधान व प्रसार को लेकर काफी काम हुआ। इसका फायदा मिला है। संभावना जताई जा रही है कि आने वाले वर्षों में कृषि विवि की रैंकिंग और अच्छी होगी। जल्दी ही टॉप-10 में भी इसका नाम होगा। पीजी के छात्रों को 5 हजार और पीएचडी के छात्रों को 10 हजार रुपए मासिक छात्रवृति दी जाती है। अध्ययन-अध्यापन का स्तर भी बढ़ा। इसकी वजह से ही कुछ वर्षों में बड़ी संख्या में यहां के छात्रों ने आईसीएआर नेट क्वालिफाई किया। इंदिरा गांधी कृषि विवि के कुलपति डाॅ. एसएस. सेंगर का कहना है कि आने वाले वर्षों में विवि की रैंकिंग और अच्छी होगी। यह देश के सर्वश्रेष्ठ विवि के रूप में पहचाना जाएगा।

विवि से 48 कॉलेज जुड़े हैं
राज्य बनने के बाद इंदिरा गांधी कृषि विवि से जुड़े कॉलेजों की संख्या बहुत कम थी। लेकिन अब 48 कॉलेज इससे संबद्ध हैं। इसमें शासकीय के साथ निजी कॉलेज भी हैं। इसमें स्नातक स्तर पर करीब ढ़ाई हजार सीटें हैं। एग्रीकल्चर, हार्टीकल्चर, एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग के अलावा फूड प्रोसेसिंग की पढ़ाई भी विवि के कॉलेजों में हो रही है।

खबरें और भी हैं...