• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • In Chhattisgarh, 150 People Are Allowed To Attend The Wedding And 50 People In The Funeral, Order Issued In Durg And Gaurela Pendra Marwahi

स्कूलों में फैलते कोरोना के बीच भीड़ की छूट:रायपुर में मैरिज हॉल की क्षमता से 50% मेहमानों को शादी में आने की छूट; दुर्ग और GPM में 150 लोगों की अधिकतम सीमा

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बेमेतरा के साजा और महासमुंद के बागबाहरा के दो स्कूलों में 12 विद्यार्थियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने की चिंताओं के बीच छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रतिबंधों से राहत देना शुरू किया है। अब शादी और अन्त्येष्टि में शामिल होने वालों की संख्या में छूट बढ़ा दी है। रायपुर में शादी में शामिल होने वालों की अधिकतम संख्या मैरिज हॉल अथवा समारोह स्थल की क्षमता का 50% तय हुआ है। वहीं कुछ जिलों में शादी में अधिकतम 150 लोग और अन्त्येष्टि में 50 लोग शामिल हो पाएंगे।

रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार की ओर से बुधवार शाम को जारी आदेश के मुताबिक, शादी में शामिल होने वालों की अधिकतम संख्या आयोजन स्थल की क्षमता का 50% होगा। वहीं अन्त्येष्टि, दशगात्र और मृत्यु संबंधी कार्यक्रमों में अधिकतम संख्या 50 तय की गई है। समारोह के दौरान मास्क पहनना और शारीरिक दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा।

दूसरे जिलों में भी जारी होंगे ऐसे आदेश
गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही (GPM) जिला कलेक्टर ने भी आज ही छूट संबंधी आदेश जारी कर दिया। आदेश में कहा गया है कि गतिविधियों की समीक्षा के बाद तय हुआ है कि अंत्येष्टि, दशगात्र इत्यादि मृत्यु संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 50 रहेगी। किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम और मैरिज हॉल अथवा गार्डन में आयोजित विवाह समारोह में दोनों पक्षों को मिलाकर अधिकतर 150 लोग शामिल हो सकते हैं। इसके लिए भी क्षेत्र के SDM से अनुमति लेना अनिवार्य होगा। आयोजन के दौरान मास्क पहनना और शारीरिक दूरी का पालन अनिवार्य होगा।

दुर्ग की ADM नुपुर राशि पन्ना ने भी शादियों में अधिकतम 150 और अन्त्येष्टि कार्यक्रमों में अधिकतम 50 लोगों के शामिल होने की छूट संबंधी ऐसा ही आदेश जारी किया है। बताया जा रहा है, दूसरे जिलों में भी ऐसे ही आदेश जारी होने की तैयारी है।

स्कूलों में कोरोना पर सरकार को सूचना का इंतजार:अफसर बोले- जानकारी आने दीजिए, फिर बनाएंगे एक्शन प्लान; एक्सपर्ट डाक्टर बोले बच्चों का एकसाथ पॉजिटिव मिलना बड़ा खतरा

अभी तक 50 और 20 की थी अनुमति
कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लगाए गए प्रतिबंधों में जून के बाद छूट शुरू हुई। आखिरी बार विवाह समारोह में अधिकतम 50 लोगों और अन्त्येष्टि, दशगात्र अथवा मृत्यु संबंधी कार्यक्रमों में शामिल होने वालों की अधिकतम संख्या 20 निर्धारित की गई थी।

GPM की संक्रमण दर महीनों से शून्य के आसपास है
जिन दो जिलों में सबसे पहले प्रतिबंधों से छूट दी गई है उनमें गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में कोरोना संक्रमण की दर शून्य के आसपास है। यहां कई दिनों से कोई मरीज नहीं मिल रहा था। तीन दिन पहले एक केस मिला है। वहीं दुर्ग जिले में इस समय 26 कोरोना मरीज सक्रिय हैं। जिस बेमेतरा जिले में 7 स्कूली छात्राएं पॉजिटिव पाई गई हैं, वह दुर्ग का पड़ोसी है।

खबरें और भी हैं...