सीजी बोर्ड परीक्षा:दसवीं और बारहवीं में प्राइवेट से परीक्षा देने वाले घटे, इस बार 6 हजार छात्र देंगे पेपर

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दसवीं-बारहवीं सीजी बोर्ड में प्राइवेट छात्रों की संख्या इस बार कम हो गई है। दो साल पहले तक करीब 20 हजार छात्र प्राइवेट के तौर पर पेपर देते थे। कोरोना काल में दसवीं-बारहवीं में पास होने वाले छात्रों की संख्या बढ़ी। इसलिए भी प्राइवेट छात्रों की संख्या कम हो गई है। इस बार करीब 6 हजार छात्र प्राइवेट से परीक्षा देंगे।

इसके उलट नियमित छात्रों की संख्या बढ़ी है। बोर्ड में इस साल 6.82 लाख नियमित छात्र के तौर पर परीक्षा में शामिल होंगे। 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा 2022 के लिए मंगलवार को आवेदन की प्रक्रिया खत्म हो गई है। प्राइवेट छात्रों के आवेदन शुरुआत से ही कम मिले थे। माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से आवेदन कम देखकर फार्म भरने की तारीख बढ़ाई गई। उसके बाद भी छात्रों की संख्या कम रही। दसवीं-बारहवीं के लिए इस बार करीब 6 हजार छात्रों ने आवेदन किया है। पिछली बार कोरोना संक्रमण की वजह से दसवीं की परीक्षा निरस्त कर दी गई थी।

सभी छात्रों को पास घोषित किया गया था। बारहवीं की परीक्षा भी नए फार्मूले से आयोजित की गई। छात्रों ने घर से लिखकर आंसरशीट जमा की। इस वजह से बारहवीं में भी करीब 97 प्रतिशत तक छात्र पास हो गए। कोरोना काल के पहले सामान्य स्थिति में दसवीं का रिजल्ट 60 प्रतिशत और बारहवीं का रिजल्ट करीब 75 प्रतिशत तक रहने का रिकार्ड है। इस बार पास होने वाले छात्रों की संख्या बढ़ने से प्राइवेट छात्रों की संख्या कम हुई है।दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा के लिए प्रायोगिक परीक्षाएं अगले महीने यानी जनवरी से शुरू हो जाएगी। तारीख के संबंध में माध्यमिक शिक्षा मंडल से सूचना जारी कर दी गई है। प्रायोगिक परीक्षाएं स्कूल स्तर पर आयोजित की जाएगी। प्रैक्टिकल के आयाेजन काे लेकर दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं, वहीं दूसरी ओर दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षा के लिए समय-सारणी इस महीने के आखिरी सप्ताह में जारी की जाएगी। इसके लिए तैयारी की जा रही है।

नवंबर का असाइनमेंट जारी
दसवीं-बारहवीं बोर्ड के तहत नवंबर महीने का असाइनमेंट कुछ दिन पहले जारी कर दिया गया है। इस सप्ताह तक छात्रों को असाइनमेंट में पूछे गए सवालों के जवाब लिखकर संबंधित स्कूलों में जमा करने होंगे। कोरोना काल में ऑफलाइन पढ़ाई पर असर पड़ा है। इसे देखते हुए दसवीं-बारहवीं के कोर्स में 30 से 40 प्रतिशत की कटौती की गई है। उसी के अनुसार कोर्स को बांटा गया है। उसी आधार पर ही अब असाइनमेंट जारी किए जा रहे हैं। अफसरों का कहना है कि कुछ महीने पहले से असाइनमेंट जारी करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। दिसंबर व जनवरी में भी यह जारी होंगे। इसके नंबर भी बोर्ड के नतीजे में जोड़े जाएंगे। इसलिए असाइनमेंट पर ध्यान देना जरूरी है।

खबरें और भी हैं...