डेंगू पॉजिटिव मिले बच्चे:शहर में सितंबर के 24 दिनों में 23 बच्चों को हुआ डेंगू टाइप-3 के मामले ही ज्यादा

रायपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जरूरत इस बात की है कि बुखार आने के बाद सावधानी के तौर पर डेंगू की जांच करवा लेनी चाहिए। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
जरूरत इस बात की है कि बुखार आने के बाद सावधानी के तौर पर डेंगू की जांच करवा लेनी चाहिए। (फाइल फोटो)

राजधानी में सितंबर के 24 दिन में 23 बच्चे डेंगू पॉजिटिव मिले हैं। अर्थात् हर दिन एक बच्चे में डेंगू का संक्रमण निकला है। इन्हें मिलाकर राजधानी में डेंगू के मरीजों की संख्या 421 हो गई है। इस बीच, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में डेंगू के मरीजों में टाइप-2 संक्रमण को लेकर राज्यों को अलर्ट किया है, लेकिन राहत की बात है कि यहां डेंगू के टाइप-3 के केस ही मिल रहे हैं।

प्रदेश में अब तक डेंगू के 455 से अधिक मामले आ गए हैं, लेकिन चार सौ से ज्यादा केस के साथ राजधानी सबसे ऊपर है। रायपुर में अभी कोरोना के जितने मरीज मिल रहे हैं, डेंगू के केस उससे दोगुना हैं। मेडिकल कालेज के सीनियर वायरोलाॅजिस्ट डा. अरविंद नेरल के मुताबिक किसी भी वायरस के स्ट्रेन में संक्रमण को फैलाने की अलग-अलग क्षमता होती है। डेंगू के मामले में भी यही बात लागू होती है।

रायपुर में डेंगू की स्थिति पिछले साल काफी नियंत्रित रही। इस साल फिर मामले बढ़ गए हैं। डेंगू के मामले में सावधानी इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि ऐसे लोग जिन्हें यह बीमारी दूसरी बार चपेट में ले रही है, उनके गंभीर अवस्था में पहुंचने की आशंकाएं बहुत ज्यादा बढ़ रही हैं। जहां तक टाइप का सवाल है, इसके म्यूटेशन है या स्ट्रेन को लेकर बहुत मंथन की जरूरत नहीं। बल्कि जरूरत इस बात की है कि बुखार आने के बाद सावधानी के तौर पर डेंगू की जांच करवा लेनी चाहिए।

एक्सपर्ट्स बता रहे हैं डेंगू की जरूरी जानकारियां - डॉ. अनुदिता भार्गव, माइक्रोबॉयोलॉजिस्ट-एम्स

रायपुर में डेंगू टाइप-3 ही ज्यादा संक्रमण का फैलाव भी इसलिए

डेंगू के चार प्रकार टाइप 1,2,3 और 4 होते हैं। रायपुर एम्स की माइक्रोबॉयोलॉजी लैब में हमने अब तक जितनी जांच की है उसमें डेंगू के टाइप थ्री के मामले ही शहर में सबसे अधिक पाए गए हैं। टाइप थ्री डेंगू में संक्रमण का फैलाव बहुत अधिक होता है। वैसे डेंगू का कोई प्रकार समय पर जांच नहीं करवाने और इलाज में देरी से घातक साबित हो सकता है। जरूरी है कि बुखार जैसी स्थिति में डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए।

शक में रोजाना 5 से ज्यादा सैंपल एम्स की लैब को- डॉ. निकिता शेरवानी, एचओडी-माइक्रोबायोलॉजी, मेडिकल कॉलेज

हमारे यहां लैब में डेंगू के जो सैंपल जांच के लिए उन पॉजिटिव सैंपलों में से हम पांच सैंपल एडवांस जांच के लिए एम्स रायपुर की लैब में भेज रहे हैं। डेंगू के मामले में मच्छर ही संक्रमण के फैलाव का सबसे बड़ा वाहक होता है। लिहाजा लोगों को चाहिए कि वो अपने आसपास साफ सफाई पर अधिक ध्यान रखें। डेंगू मलेरिया जैसी बीमारियों में बचाव जितना अधिक करेंगे उससे संक्रमण का खतरा कम से कम होगा।

बच्चे को बुखार चढ़ा तो कोविड या डेंगू जांच जरूरी - डॉ. निलय मोझरकर, पीडियाट्रिशियन-कोविड काउंसलर

पैरेंट्स में बच्चों की कोविड या डेंगू जांच को लेकर भ्रम की स्थिति रहती है। अगर बच्चे को केवल बुखार है दूसरे कोई लक्षण नहीं है। या बुखार के साथ हाथ पैर दर्द जैसे लक्षण हैं तो डेंगू की जांच जरूर करवानी चाहिए। अगर बच्चा बुखार के साथ वोमेट और पेट दर्द जैसी शिकायत कर रहा हो तो डेंगू की जांच बहुत ज्यादा जरूरी है। जबकि सर्दी-खांसी बुखार या केवल बुखार होने की स्थिति में कोरोना जांच बेहद जरूरी है।​​​​​​​

अगस्त की तुलना में डेंगू के मरीज हुए कम​​​​​​​

राजधानी में अगस्त की तुलना में डेंगू के मरीज कम हुए है। चिंता की बात ये है कि मरीज रोज मिल रहे हैं। शुक्रवार को तीन नए केस के बाद मरीजों की संख्या 421 पहुंच गई है। इसमें 249 मरीज तो केवल अगस्त के हैं। सितंबर में 100 के आसपास मरीज मिल चुके हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि फुल पैंट व शर्ट पहनकर एडिस मच्छर के संक्रमण से बचा जा सकता है। नए मरीज जनता काॅलोनी गुढ़ियारी, सोनडोंगरी व जवाहरनगर बिरगांव के हैं। इसमें बिरगांव के मरीज को अंबेडकर अस्पताल में भर्ती किया गया है। दो अन्य मरीजों का इलाज घर में चल रहा है।

पुलिस लाइन पेंशनबाड़ा में 156 घरों की जांच की गई। 188 कूलर व अन्य कंटेनर की जांच में 2 लोगों के घर एडिस मच्छर के लार्वा मिले। 68 लोगों की रैपिड किट से जांच की गई, जिसमें सभी निगेटिव निकले। शनिवार को संतोषीनगर में जिन्हें बुखार है, उसकी रैपिड किट से जांच की जाएगी। सीनियर मेडिकल कंसल्टेंट डॉ. योगेंद्र मल्होत्रा व हिमेटोलॉजिस्ट डॉ. विकास गोयल का कहना है कि डेंगू का यह सीजन है। सोते समय मच्छरदानी के उपयोग से संक्रमित होने से बचा जा सकेगा।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...