इंडियन एयरलाइंस में नौकरी का झांसा देकर ठगी:टीचर को आया ठग का फोन- हैलो... मैं एयरलाइंस के एचआर डिपार्टमेंट से बोल रहा हूं आपका सलेक्शन हो गया है और ले लिए 2.5 लाख

रायपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस इस मामले में ठग के बैंक अकाउंट के जरिए उस तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
पुलिस इस मामले में ठग के बैंक अकाउंट के जरिए उस तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। फाइल फोटो।

रायपुर की एक टीचर को डिजिटल ठगी का शिकार बनाया गया है। बातों में ठग ने इन्हें ऐसा फंसाया कि मैडम ने उसके एकाउंट में 2.5 लाख रुपए जमा करा दिए। महिला को अपनी बातों में फंसाने के लिए ठग ने उन्हें हवा में उड़ने वाली नौकरी यानी एक एयरलाइंस में मोटी सैलेरी वाली जॉब के बारे में बताया। ठगी का शिकार होने के बाद महिला की शिकायत पर कबीर नगर की पुलिस ने केस दर्ज किया है। ठग ने कुछ खातों में रुपए जमा करवाए थे उन बैंक अकाउंट्स की जानकारी भी पुलिस ले रही है।

जी मैं इंडियन एयरलाइंस का एचआर बोल रहा हूं
कबीर नगर में रहने वालीं शम्पा धरगुप्ता पिछले 25 सालों से टीचिंग की जॉब में थीं। पिछले दिनों नौकरी छूट गई तो नौकरी डॉट कॉम नाम की वेबसाइट पर अप्लाय किया था। 8 जुलाई को इन्हें मोबाइल नंबर 9933011568 से फोन आया। कॉल करने वाले ने कहा कि मैं इंडियन एयरलाइंस से बोल रहा हूं। उसने कहा कि आपका सलेक्शन इंडियन एयरलाइंस में हो चुका है, हमें आप जैसे पढ़े-लिखे और अनुभवी लोगों की जरूरत है। अब आपका टेलीफोनिक इंटरव्यू होगा। इसके बाद एक और नंबर 8923830312 से महिला के पास फोन आया। उसने महिला से बात की। कहा कि आपको हम जॉब दे रहे हैं।

ये सुनकर महिला खुश हो गई। मगर यहीं असली पेंच था। ठग ने महिला से कहा कि उन्हें रजिस्ट्रेशन के 2000, डॉक्यूमेंटेशन के 7000, मेडिकल के 15000, ट्रेनिंग के 28 हजार 600, ड्रेस कोड के 24000, इंश्योरेंस के 39999, बॉन्ड के 59999, मुंबई में ट्रेनिंग के 79999 के 256597 रुपए जमा कराने होंगे। ठग ने भरोसा दिया कि सैलेरी मिलने पर इनमें से रुपए लौटा दिए जाएंगे। ठग ने यूको बैंक के खाते की डीटेल महिला को भेजी और फोन पे के जरिए रुपए ले लिए। लगातार 10 दिनों तक महिला से ठग इधर-उधर की बातें करते रहे न रकम लौटाई न जॉब का कोई कंफर्मेशन मिला। ठगी का शक होने पर इसके बाद महिला थाने चली गई और शिकायत दर्ज करवाई।

बैंक में डिजिटल डकैती करने वाले फरार
रायपुर के आईडीबीआई बैंक में कर्मचारी को फोन करके डिजिटल डकैती की जा चुकी है। इसमें डकैत बैंक में नहीं आए सिर्फ एक फोन किया और उड़ा लिए 23 लाख। 2 जुलाई को बैंक मैनेजर राजेश प्रसाद की टीम को एक शख्स का फोन आया। कॉलर ने खुद को कारोबारी संयम बैद बताया। संयम स्टील के कारोबारी हैं इनका खाता बैंक में है। ठग ने कहा कि मैं संयम बोल रहा हूं एक मेडिकल इमरजेंसी है मैंने मेल पर डिमांड की डीटेल भेजी है मुझे 23 लाख रुपए दें। बातों में आकर बैंक के कर्मचारी ने रुपए दे दिए। कुछ देर बाद असली संयम बैद बैंक आए और शिकायत की। पुलिस अब तक इस ठग को पकड़ नहीं पाई है।

खबरें और भी हैं...