छत्तीसगढ़ में कोरोना / एम्स के डाॅक्टर के साथ इंटर्न भी संक्रमित, प्रदेश में 101 नए मरीज, 82 मरीज डिस्चार्ज भी

लगातार फैल रहे संक्रमण में भी लापरवाही बरती जा रही है।  भिलाई के रिसाली में कंटेनमेंट जोन में लगाए बैरिकेड को लोगों ने तोड़कर रास्ता बना लिया। लगातार फैल रहे संक्रमण में भी लापरवाही बरती जा रही है। भिलाई के रिसाली में कंटेनमेंट जोन में लगाए बैरिकेड को लोगों ने तोड़कर रास्ता बना लिया।
X
लगातार फैल रहे संक्रमण में भी लापरवाही बरती जा रही है।  भिलाई के रिसाली में कंटेनमेंट जोन में लगाए बैरिकेड को लोगों ने तोड़कर रास्ता बना लिया।लगातार फैल रहे संक्रमण में भी लापरवाही बरती जा रही है। भिलाई के रिसाली में कंटेनमेंट जोन में लगाए बैरिकेड को लोगों ने तोड़कर रास्ता बना लिया।

  • दुर्ग में सबसे ज्यादा 30 और रायपुर में 10 केस,

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:25 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ में सोमवार को 101 नए मरीज मिलने के साथ ही संख्या 2800 पहुंच गई है। हालांकि एक्टिव मरीज केवल 632 हैं। राजधानी रायपुर में 10 नए मरीज मिले। इनमें एम्स के डाॅक्टर और दो इंटर्न शामिल हैं। संक्रमित मिलने वालों में 2 आंध्र प्रदेश से आए थे। दोनों होम क्वारेंटाइन में थे। जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। दो संक्रमित होने वाले कोरोना पीड़ितों के संपर्क में थे। उन्हीं के संपर्क में आने से उन्हें कोरोना मिला।
दो पीड़ित मरीज पुलिस वाहन के प्राइवेट चालक हैं। बाकी पांच मरीजों के संपर्क की तलाश की जा रही है। वे कहां-कहां गए और किस किस से मिले? इस बारे में भी पता लगाया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार सोमवार को दुर्ग में सबसे ज्यादा 30 और जशपुर में 25,  बलौदाबाजार में 8, गरियाबंद में 6, राजनांदगांव में 5, महासमुंद व रायगढ़ में तीन-तीन, बेमेतरा, दंतेवाड़ा व सुकमा में दो-दो तथा कबीरधाम, नारायणपुर, जांजगीर व बालोद में एक-एक मरीज मिले हैं। इसके अलावा 82 मरीजों को स्वस्थ्य होने के बाद अस्पताल से छुट्‌टी भी दे दी गई है। एम्स के डाक्टर और इंटर्न की ड्यूटी कोरोना वार्ड में थी। ड्यूटी का शेड्यूल पूरा होने के बाद वे क्वारेंटाइन में थे और उसी दौरान उनके स्वाब का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। डिस्चार्ज होने वाले मरीजों का अलग-अलग जिले के मेडिकल कॉलेज अस्पताल व जिला सेंटरों में इलाज चल रहा था। डाक्टरों के अनुसार नई गाइडलाइन के अनुसार मरीजों में कोरोना के लक्षण नहीं मिलने पर छुट्‌टी दी गई है।

94% ब्लाॅकों तक पहुंचा संक्रमण, 101 ब्लॉक रेड व 34 ऑरेंज जोन में
प्रदेश में कोरोना प्रभावित ब्लॉक की संख्या में लगातार बढ़ती जा रही है। सोमवार को जारी स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट में 94 फीसदी ब्लॉक संक्रमण की चपेट में हैं। 6 फीसदी इलाके ही ग्रीन जोन में हैं। राज्य के 70 फीसदी यानी 101 ब्लॉक रेड जोन में आ गए हैं। 34 ब्लॉक ऑरेंज जोन में हैं। अब ग्रीन जोन में केवल 9 ब्लॉक ही रह गए हैं। रायपुर, बिलासपुर, कोरबा, बलौदाबाजार जिला अभी भी रेड जोन में है। विभाग ने रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन वाले विकासखंडों की नई सूची जारी की है। इसमें उन ब्लॉकों को भी रेड जोन में शामिल किया गया है, जहां जांच की गति बहुत धीमी है। प्रदेश के सभी विकासखंडों और शहरी क्षेत्रों में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या, इनके दोगुने होने की दर और प्रति एक लाख की जनसंख्या पर सैंपल जांच की ताजा स्थिति के आधार पर रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन की कैटेगरी तैयार की गई है। नई सूची में अब एक भी जिला ग्रीन जोन में नहीं है। हफ्तेभर पहले 95 ब्लॉक रेड जोन में थे। इस बार 6 नए ब्लॉक जुड़े हैं, जबकि ऑरेंज जोन में एक नया ब्लॉक जुड़ा है।

होटल-रेस्तरां और क्लबों के बार 5 जुलाई तक बंद
राज्यभर के होटल-रेस्तरां और क्लबों के बार अब 5 जुलाई तक बंद रहेंगे। पिछला अादेश 28 जून तक बंद करने का था, जिसे एक हफ्ता बढ़ाया गया है। छत्तीसगढ़ होटल एसोसिएशन ने हाल ही में मुख्यमंत्री से मिलकर होटल-रेस्टोरेंट के साथ ही बारों को भी खोलने की अनुमति मांगी थी। मुख्यमंत्री ने होटल-रेस्टोरेंट खोलने की अनुमति तो दे दी, लेकिन बारों को खोलने के लिए फैसला टल गया है। जाहिर है कि बार के साथ ही स्टॉक रूम और संग्रहण स्थल भी बंद रहेंगे। सोमवार को जारी आदेश के बाद होटल और रेस्टोरेंट संचालकों में इस बात की अफवाह फैल गई थी कि बार के साथ होटल-रेस्तरां भी बंद किए जा रहे हैं। लेकिन आबकारी विभाग ने स्पष्ट किया कि होटल-रेस्तरां खुले रहेंगे, केवल बार बंद होंगे। एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष कमलजीत होरा ने बताया कि कारोबार आर्थिक संकट में आने लगा है, इसलिए बार खोलने की अनुमति मिलनी चाहिए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना