तीसरे मोर्चे की तैयारी:जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने बनाई नई कार्यकारिणी, 2023 का विधानसभा चुनाव जीतने को लक्ष्य बनाया

रायपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद कमजोर सी दिख रही पार्टी को अब नया रणनीतिक रंग दिया जा रहा है। - Dainik Bhaskar
पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद कमजोर सी दिख रही पार्टी को अब नया रणनीतिक रंग दिया जा रहा है।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने आज अपनी दूसरी कार्यकारिणी घोषित कर दी। 174 सदस्यों वाली जंबों कार्यकारिणी को 2023 के विधानसभा चुनाव का लक्ष्य दिया गया है। जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने इस कार्यकारिणी को JCCJ.2 नाम दिया है। पार्टी की पहली कार्यकारिणी को पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जाेगी के निधन के बाद भंग कर दिया गया था। उसके कई महीने बाद नये सिरे से पार्टी का पुनर्गठन हुआ है।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की नई कार्यकारिणी में 32 उपाध्यक्ष, 3 महामंत्री, 10 विभाग अध्यक्ष, 11 महासचिव, 11 संयुक्त महासचिव, 71 सचिव और 23 संगठन मंत्री हैं। उनके अलाव एक मुख्य प्रवक्ता, 5 संभागीय प्रवक्ता, 2 संभागीय कोर कमेटी के अध्यक्ष, 5 संभागीय कोषाध्यक्ष भी बने हैं। पार्टी ने 38 जिलाध्यक्ष और हाल ही में गठित अजीत जोगी मोर्चा संगठनों के 39 पदाधिकारी बनाये हैं। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने कहा, देश का नवोदित क्षेत्रीय दल होने के नाते हमने अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. रेणु जोगी और विधायक दल के नेता धरमजीत सिंह के मार्गदर्शन में ‘देश का सबसे युवा और सबसे शिक्षित राजनीतिक संगठन’ बनाने का प्रयास किया है। JCCJ.2 में प्रदेश के सभी क्षेत्रों के अनुसूचित जाति, जनजाति, अति-पिछड़ा वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को अन्य दलों की अपेक्षा 75 प्रतिशत अधिक महत्व दिया गया है। इस कार्यकारिणी में वरिष्ठों और युवाओं का संतुलन भी रखा गया है।

29 अप्रैल को विधिवत शपथ लेंगे पदाधिकारी

प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने बताया, पूर्व मुख्यमंत्री और संगठन के संस्थापक अध्यक्ष अजीत जोगी जी की 75वीं वर्षगांठ 29 अप्रैल को कार्यकारिणी सदस्यों को विधिवत शपथ दिलाया जाएगा। उन्हें नियुक्ति पत्र दिया जाएगा और छत्तीसगढ़ महतारी की वंदना होगी। यह आयोजन अनुग्रह बंगले में ही होगा। इसी दिन जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ अजीत जोगी की प्रथम पुण्यतिथि 29 मई तक एक महीने का ‘सुरता जोगी माह’ शुरू करेगा।

हालात सुधरे तो "छत्तीसगढ़ स्वराज" आंदोलन

अमित जोगी ने बताया, कोरोना के हालात सुधरे तो छत्तीसगढ़ स्वराज नाम से जन आंदोलन शुरू होगा ताकि 2023 में छत्तीसगढ़ को हाफ टाइम की जगह फुल टाइम मुख्यमंत्री मिले। उन्होंने बताया, इस आंदोलन में प्रदेश के सभी नौकरियों में छत्तीसगढ़ियों को 100 प्रतिशत आरक्षण, मैदानी इलाक़ों में पूर्ण शराबबंदी, किसानों को एकमुश्त 2500 रुपये का समर्थन मूल्य, कर्मचारियों का नियमितिकरण, 2500 रुपया मासिक का बेरोज़गारी भत्ता, नि:शक्तों और वृद्धों को 1500 मासिक पेन्शन दिलवाने की मांग होगी। उसके साथ ही भ्रष्टाचार के खिलाफ स्वतंत्र और सशक्त लोकपाल कानून की भी मांग होगी।

अभी पार्टी के पास चार विधायक, उनमें भी विवाद

अजीत जोगी के नेतृत्व में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने 2018 के विधानसभा चुनाव में बसपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ा। उस समय केवल दो साल पुरानी इस पार्टी ने पांच सीटें जीतीं। दो सीटों पर सहयोगी बसपा ने जीत हासिल की। लोकसभा चुनाव में यह गठबंधन कायम नहीं रहा। 29 मई 2020 को पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष अजीत जोगी का निधन हो गया। उनकी वजह से खाली हुई मरवाही विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुये लेकिन जोगी परिवार के सदस्यों का पर्चा खारिज हो गया। अब विधानसभा में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के चार विधायक हैं। उनमें से दो कांग्रेस में वापस लौटने की मंशा जता चुके हैं।

खबरें और भी हैं...