छत्तीसगढ़ में JCCJ को लगा झटका:पूर्व विधायक RK राय 150 समर्थकों के साथ BJP में शामिल, प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने दिलाई सदस्यता

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (JCCJ) को जोर का झटका लगा है। पार्टी के सीनियर नेता और अजीत जोगी के करीबी माने जाने वाले पूर्व विधायक RK राय अपने 150 समर्थकों के साथ BJP में शामिल हो गए हैं। उन्हें बीजेपी की प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने पार्टी की सदस्यता दिलाई है।

रायपुर में भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के दौरान आरके राय प्रदेश कार्यालय पहुंचे और डेढ़ सौ समर्थकों के साथ बीजेपी जॉइन की। भाजपा प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी की मौजूदगी में आरके राय ने भाजपा से वफादारी की कसम खा ली है। वो मौजूदा कांग्रेस सरकार के खिलाफ सियासी रण में कूदने को तैयार हैं।

कांग्रेस के टिकट पर विधायक बने थे

पूर्व विधायक आरके राय, अजीत जोगी के बेहद करीबी थे। जब अजीत जोगी ने कांग्रेस से अलग होकर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस बनाई थी, तब आरके राय भी उनके साथ कांग्रेस छोड़ जोगी कांग्रेस में आ गए थे। इसके बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया था। साल 2013 के विधानसभा चुनाव में आरके राय बालोद जिले के गुंडरदेही से कांग्रेस की टिकट पर विधायक बनकर आए थे।

2018 के विधानसभा चुनाव में मिली हार

2018 के विधानसभा चुनाव में जोगी कांग्रेस ने भी उन्हें गुंडरदेही से चुनावी मैदान में उतारा था। मगर आरके राय बुरी तरह से चुनाव हार गए। उस चुनाव में कांग्रेस, बीजेपी के बाद राय तीसरे स्थान पर रहे थे। आरके राय को सिर्फ 8648 वोट ही मिले थे। जबकि दूसरे नंबर पर रहे बीजेपी के दीपक साहू को 54975 वोट मिले। कांग्रेस के कुंवर सिंह निशाद को 110369 वोट मिले थे। इस प्रकार इस सीट पर कांग्रेस ने कब्जा किया था।

पिछले साल बनी थी भाजपा में आने की योजना

पहले मुख्यमंत्री अजीत जाेगी के निधन के बाद आरके राय को जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ से कोई उम्मीद नहीं बची थी। रही-सही कसर मरवाही उपचुनाव में जोगी परिवार के बाहर हो जाने की घटना ने पूरी कर दी। उस चुनाव में आरके राय ने भाजपा उम्मीदवार के लिए प्रचार किया था। वहां कई चुनावी मंचों पर वे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ नजर आये। वहीं से उनके भाजपा में शामिल होने की योजना बनी। उन्होंने बताया था, जल्दी ही डॉ. रमन सिंह पार्टी में प्रवेश की तिथि आदि तय कर बताएंगे। 11 महीने बाद राय भाजपा में शामिल हो गये।

सियासी तोड़फोड़:जोगी के करीबी आरके राय जाएंगे भाजपा के साथ, कहा-क्षेत्रीय दल में कोई भविष्य नहीं