• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Judicial Inquiry Completed In Jhiram Case; Justice Prashant Mishra Commission Submitted The Investigation Report To The Governor, The Reality Of The 8 year old Massacre In 4184 Pages

झीरम कांड की न्यायिक जांच पूरी:जस्टिस प्रशांत मिश्रा आयोग ने राज्यपाल को सौंपी रिपोर्ट, 4184 पेज में 8 साल पुराने हत्याकांड की हकीकत

रायपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
झीरम जांच आयोग के सचिव ने राज्यपाल को रिपोर्ट की प्रति सौंपी है। - Dainik Bhaskar
झीरम जांच आयोग के सचिव ने राज्यपाल को रिपोर्ट की प्रति सौंपी है।

झीरम घाटी हत्याकांड के 8 साल बाद न्यायिक जांच आयोग की रिपोर्ट आ गई है। जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा की अगुवाई वाले आयोग ने शनिवार शाम राज्यपाल अनुसूईया उइके को यह रिपोर्ट सौंप दी। यह रिपोर्ट 10 खंडों और 4 हजार 184 पेज में तैयार की गई है।

झीरम हत्याकांड जांच आयोग के सचिव और छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार संतोष कुमार तिवारी शनिवार शाम रिपोर्ट लेकर राजभवन पहुंचे। उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात कर यह रिपोर्ट दी।

न्यायमूर्ति मिश्रा छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के कार्य-वाहक मुख्य न्यायाधीश थे। अभी वे आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश हैं। आंध्र प्रदेश रवाना होने से पहले उन्होंने जांच प्रतिवेदन बनाने का काम पूरा कर लिया था। बताया जा रहा है कि यह रिपोर्ट अब सरकार को भेजी जाएगी। कैबिनेट उसे देखेगी और उसके बाद विधानसभा में इसको पेश किया जाएगा।

राजनीतिक काफिले सबसे बड़ा हमला
25 मई 2013 को झीरम घाटी में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर नक्सली हमला हुआ था। इसमें 29 लोग मारे गए थे। इसमें कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार पटेल, उनके बेटे दिनेश पटेल, दिग्गज नेता महेंद्र कर्मा, उदय मुदलियार जैसे नाम शामिल हैं। इस हमले में पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल गंभीर रूप से घायल हुए थे। इनका इलाज के दौरान निधन हो गया था। घटना के तीसरे दिन यानी 28 मई 2013 को न्यायमूर्ति प्रशांत मिश्रा की अध्यक्षता में न्यायिक जांच आयोग बनाया गया।

खबरें और भी हैं...