कालीचरण को जमानत:पुणे में कालीचरण को जमानत, पुलिस ने रायपुर जेल में छोड़ा

रायपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को पुणे के एक कार्यक्रम में अपशब्द बोलने के केस में कालीचरण को कोर्ट से जमानत मिल गई है। रायपुर में दर्ज राजद्रोह सहित सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने के केस में अभी कालीचरण को जमानत नहीं मिली है। इसलिए उसे पुणे पुलिस ने शुक्रवार दोपहर 1 बजे रायपुर केंद्रीय जेल छोड़ दिया है। कालीचरण यहां 13 जनवरी तक न्यायिक रिमांड पर जेल में है। पुणे पुलिस कोर्ट के आदेश के बाद जेल से ही उसे गिरफ्तार कर ले गई थी।पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कालीचरण समेत 6 लोगों के खिलाफ पुणे के खड्ग थाने में शांति भंग करने और गाली गलौज का केस दर्ज है।

पुणे के एक कार्यक्रम में भी कालीचरण समेत 6 लोगों ने महात्मा गांधी के लिए अपशब्द कहते हुए उनका अपमान किया था। उसके बाद पुणे पुलिस ने केस दर्ज किया था। इस मामले में पुणे पुलिस ने कालीचरण को गिरफ्तार किया था। वहां से जमानत मिलने के बाद उसे वापस रायपुर लाया गया है। जबकि रायपुर के मामले में वायरल वीडियो के आधार पर अकोला पुलिस ने भी केस दर्ज किया था। उस केस को रायपुर रिफर कर दिया गया है, क्योंकि घटना स्थल टिकरापारा का है। टिकरापारा पुलिस ने अपनी कार्रवाई में अकोला पुलिस की एफआईआर को शामिल कर लिया है। इसलिए अकोला पुलिस ने कालीचरण को गिरफ्तार नहीं किया।

हाईकोर्ट में होगी जमानत की सुनवाई कालीचरण के खिलाफ टिकरापारा पुलिस ने राजद्रोह, नफरत फैलाने, शांति भंग करने के लिए झूठ कहने, धार्मिक-सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने और गाली गलौज का केस दर्ज किया है। इस मामले में कालीचरण की जमानत के लिए अर्जी लगाई गई थी, जिसे जिला कोर्ट ने खारिज कर दिया। अब हाईकोर्ट में अर्जी लगाई गई है। सुनवाई की तारीख अभी तय नहीं है।

खबरें और भी हैं...