कालीचरण के खिलाफ एक और FIR:महात्मा गांधी को गाली देने पर अब पुणे पुलिस ने दर्ज किया मामला, 5 अन्य लोगों का भी नाम

रायपुर7 महीने पहले
कालीचरण के बयान की देश भर में निंदा हो रही है। भाजपा नेताओं ने भी इस बयान से किनारा कर लिया है।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को गाली देने वाले संत कालीचरण पर देश के दूसरे हिस्सों में भी FIR हाेने लगी है। महाराष्ट्र के पुणे में भी कालीचरण सहित 6 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। छत्तीसगढ़ के रायपुर और महाराष्ट्र के अकोला में पहले ही FIR दर्ज की जा चुकी है।

बताया जा रहा है, पुणे पुलिस ने कालीचरण, मिलिंद एकबोते, नंदकिशोर एकबोते तथा तीन अन्य लोगों की शिकायत के बाद साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने, राष्ट्रपिता के अपमान आदि के मामले में FIR दर्ज की है। महाराष्ट्र के अकोला में 28 दिसंबर को FIR दर्ज हुई थी। वहीं रायपुर में 26-27 दिसंबर की रात में FIR दर्ज हुई। कालीचरण बाबा ने 26 दिसंबर को रायपुर में आयोजित धर्म सभा में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के लिए अभद्र भाषा का उपयोग करते हुए भड़काऊ भाषण दिया था। उसके बाद से पूरे देश में हंगामा मचा हुआ है। हंगामे की आंशका होते ही कालीचरण छत्तीसगढ़ से फरार हो गया।

मामला दर्ज होने के बाद पुलिस बाबा की तलाश कर रही है। रायपुर पुलिस महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के लिए रवाना हो चुकी है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है, महात्मा गांधी पर अशोभनीय टिप्पणी करते हुए भड़काऊ भाषण देने वाले कालीचरण महाराज को शीघ्र गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

FIR दर्ज होने के बाद भी बाबा ने एक वीडियो जारी कर चुनौती दी थी, कि वे अपनी किसी बात से पीछे नहीं हट रहे हैं। वे हर बार गांधी जी की आलोचना और नाथूराम गोड़से को नमस्कार करेंगे। इस विवाद के बाद छत्तीसगढ़ की राजनीति में भी हलचल हो गई है। यहां के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बाबा को सरेंडर की चेतावनी दी है। इसके बाद कांग्रेस और भाजपा के नेता एक-दूसरे पर इस आयोजन की जिम्मेदारी डाल रहे हैं।

छत्तीसगढ़ की धर्म संसद में गांधीजी को गाली:महाराष्ट्र से आए संत ने कहा- गांधी ने देश का सत्यानाश किया, गोडसे को नमस्कार जो उन्हें मार दिया

धर्म संसद बवाल में ओवैसी की एंट्री:AIMIM सांसद ने कहा- सम्मेलन कांग्रेस के बिना मुमकिन नहीं था; मुस्लिमों के खिलाफ कही बातों की अनदेखी हुई