सीएम भूपेश बघेल की कांग्रेस पदाधिकारियों के साथ बैठक:10 बिस्तर अस्पतालों में भी खूबचंद बघेल योजना; 20% बेड आरक्षित, इलाज फ्री

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बैठक में बताईं सरकार की पूरी तैयारियां

काेरोना संक्रमण से निपटने के लिए प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया और सीएम भूपेश बघेल ने कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक ली। सीएम भूपेश ने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए खूबचंद बघेल स्वास्थ्य योजना को रिवाइज किया गया है। अभी तक यह 50 बेड वाले अस्पतालों में लागू होता था, लेकिन इसे 10 बेड वाले अस्पतालों के लिए भी मान्य कर दिया गया है।

साथ ही सभी निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए 20 फीसदी बेड आरक्षित रखना भी अनिवार्य कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि डॉक्टरों के लिए भी जल्द ही प्रोटोकाल बनाया जा रहा है। पिछली बार कोरोना के लिए हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन दवाई की मांग ज्यादा थी लेकिन इस बार रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड ज्यादा है। इसके लिए हमारे दो अफसर बाहर भेजे गए हैं। एक हजार डोज एक-दो दिन में छत्तीसगढ़ आ जाएंगे। कोरोना से निपटने के लिए कंट्रोल रूम भी शुरू किए जा रहे हैं। सीएम ने कहा कि वैक्सीनेशन में छत्तीसगढ़ बेहतर काम कर रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने प्रदेश में काेरोना के हालात की जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में यहां 90 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हो चुके हैं। यही हाल रहा तो यह डेढ़ लाख तक भी पहुंच सकता है। जशपुर, कांकेर और कोंडागांव को छोड़कर बस्तर और सरगुजा में स्थिति नियंत्रण में है। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि पिछली बार विपरीत परिस्थितियों में भी हमने बेहतर काम किया था। इस बार 20 जिलों में लॉकडाउन लग गया है। सभी के सहयोग से ही लॉकडाउन का उद्देश्य पूरा हो पाएगा।

बैठक में कृषि मंत्री रविंद्र चौबे समेत सभी मंत्री, पीसीसी चीफ मोहन मरकाम, पदाधिकारी, सभी विभागों के प्रमुखों के साथ जिलाध्यक्ष भी मौजूद थे। इस दौरान कोरोना से जिन कांग्रेस नेताओं-कार्यकर्ताओं का निधन हुआ है, उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। पीसीसी चीफ मोहन मरकाम ने कहा कि कोरोना काल में सभी पदाधिकारियों को सरकार का सहयोग करना है। पिछली बार कांग्रेस नेताओंं ने काफी मदद की थी। इस बार भी ऐसे ही काम करना है। जरूरत पड़ने पर जिला कांग्रेस भवन को कोविड केयर सेंटर के रूप में भी विकसित किया जाए ताकि लाेगों को परेशानी न हो।

राज्यपाल और सीएम लेंगे सर्वदलीय बैठक
राज्यपाल अनुसुइया उइके ने सोमवार को सीएम बघेल से फोन पर चर्चा की। उन्होंने स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने राज्य सरकार की तैयारियों के बारे में जानकारी ली। राज्यपाल ने सीएम से कहा कि रायपुर, दुर्ग, भिलाई और अन्य शहरों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण में वृद्धि हो रही है। इसे देखते हुए प्रभावी उपाय किए जाएं। इसके लिए सामाजिक संगठनों के प्रमुखों, उद्योगपतियों, राजनीतिक दलों के प्रमुखों, धार्मिक संस्थाओं के प्रमुखों, सभी पद्धति से संबंधित चिकित्सकों, स्वास्थ्यकर्मियों, दवा कारोबारी, व्यापारियों, पत्रकारों से चर्चा कर सुझाव प्राप्त करें। इस दौरान तय किया गया कि राज्यपाल व सीएम सर्वदलीय बैठक करेंगे। वर्चुअल माध्यम से यह बैठक होगी, जिसमें सभी दल के प्रतिनिधियों को शामिल किया जाएगा।

कोरोना नियंत्रण के लिए राज्य सरकार ने दिए 50 करोड़
प्रदेश में कोरोना संक्रमण से रोकथाम के प्रयासों में तेजी लाने के लिए राज्य आपदा मोचन निधि से राज्य सरकार ने पचास करोड़ रुपए और दिए हैं। इससे पहले 192 करोड़ 37 लाख रुपए दिए जा चुके हैं। इस तरह अब तक 242.37 करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं। वहीं, राज्य के तमाम मंत्री, कांग्रेस के विधायक, महापौर और पार्षद मुख्यमंत्री राहत कोष में अपना एक माह का वेतन देंगे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पचास करोड़ रुपए मंजूर किए जो सोमवार को हेल्थ विभाग के खाते में जमा करा दिए गए हैं। इससे स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए नमूनों के संकलन, स्क्रीनिंग, नई प्रयोगशालाओं की स्थापना और कोविड अस्पतालों में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। कोरोना की जब प्रदेश में दस्तक हुई तब 15 करोड रुपए सरकार ने तुरंत मंजूर किए थे। इसके बाद पिछले बजट में 177 करोड़ 37 लाख रुपए दिए थे। एनएमडीसी व एसईसीएल ने भी कोरोना से बचाव के लिए दस-दस करोड़ रुपए दिए थे। वैसे पिछले साल एक वर्ष में सरकार ने 853 करोड़ रुपए कोविड नियंत्रण, जांच और उपचार के साथ विभिन्न स्तरों पर इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास पर खर्च किए हैं। सीएम ने जिला कलेक्टरों और विभागों से कहा है कि संसाधनों की किसी भी हालत में कोई कमी न होने दी जाए।

कोविड अस्पतालों में बेड की जानकारी देने के लिए पोर्टल
स्वास्थ्य विभाग ने कोविड अस्पतालों में खाली बिस्तरों की जानकारी देने के लिए नया पोर्टल शुरू किया है। अस्पताल में इलाज की जरूरत वाले मरीज पोर्टल https://cg.nic.in/health/covid19/RTPBedAvailable.aspx पर प्रदर्शित खाली बिस्तरों की जानकारी के अनुसार संबंधित अस्पताल या कोविड केयर सेंटर में पहुंचकर उपचार करा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...