पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर में चक्काजाम:3 घंटे बंद रहा NH 53, कृषि कानून के विरोध में 1500 किसानों ने किया प्रदर्शन, सड़क पर लगी रहीं ट्रकों की कतारें

रायपुर3 महीने पहले
तस्वीर रायपुर की है। रसनी टोल पर किसानों के प्रदर्शन की वजह से लगा लंबा जाम।
  • रायपुर के आरंग स्थित रसनी टोलनाके के पास प्रदर्शन
  • दिल्ली में जारी किसान आंदोलन को दिया समर्थन

रायपुर जिले में जारी किसानों का चक्का जाम करीब 3 घंटे तक चला। इस दौरान नेशनल हाईवे 53 पूरी तरह से बंद रहा। सैंकड़ों ट्रकों की कतारें सड़क पर नजर आईं। 30 से ज्यादा किसान मजदूर संगठन के पदाधिकारी और कार्यकर्ता रसनी के टोल नाके पर डटे रहे। शनिवार की सुबह धमतरी, अभनपुर, धमधा जैसे हिस्सों से किसान शनिवार दोपहर रसनी पहुंचे। यहां बने टोल नाके पर सभी ने धरना दिया। सड़क को जाम कर दिया गया । किसान नेताओं की कार और ट्रैक्टर सड़क पर खड़े कर दिए गए। पीछे सैंकड़ों ट्रकों की लाइन लग गई। यह सब केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में हुआ। एक सुर में किसान नेता यहां नारे लगाते दिखे- किसान एकता जिंदाबाद...। दोपहर 3 बजे के बाद जाम हटाया गया।

सड़क पर बैठकर प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी शुरू कर दी।
सड़क पर बैठकर प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी शुरू कर दी।

शहर के बोरियाखुर्द इलाके में भी स्थिति कुछ ऐसी ही रही। इन दोनों ही जगहों पर पुलिस बल की तैनाती की गई । अफसर किसानों से रास्ता खोलने की गुजारिश करते रहे। मगर किसानों का प्रदर्शन जारी रखा। छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ से जुड़े संगठनों ने शुक्रवार शाम ही चक्काजाम की तैयारी पूरी करते हुए इसका ऐलान कर दिया था। सिर्फ रायपुर ही नहीं बल्कि बालोद जिला में दल्ली राजहरा, धमतरी, मुंगेली, बिलासपुर, महासमुंद, भिलाई, राजनांदगांव, कोरबा, अम्बिकापुर आदि क्षेत्रों में चक्काजाम किया गया।

किसानों को आतंकवादी बता रही भाजपा
किसानों का ये चक्काजाम दिल्ली में जारी किसान आंदोलन को समर्थन है। प्रदर्शन को लेकर किसान नेता वीरेंद्र पांडे, गौतम बंद्योपाध्याय और डॉ संकेत ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा कृषि सुधार के नाम पर लाए गए 3 कृषि व आम जनता विरोधी बिल की वापसी एवं फसलों के MSP की गारंटी की मांग को लेकर पंजाब हरियाणा व देश के हर हिस्से से विरोध की आवाज बुलंद की है। हम चाहते हैं कि तीन काले कानून केंद्र सरकार वापस लें। किसानों के शांतिपूर्ण आंदोलन को भाजपा द्वारा सुनियोजित ढंग से बदनाम किया जा रहा है । किसानों को आतंकवादी, नक्सली आदि बताकर अन्नदाता को अपमानित किया जा रहा है।
शहर के अंदर भी चक्काजाम

तेलीबांधा थाने के पास कांग्रेसी बैठ गए, शहर को हाइवे से जोड़ने वाली इस सड़क पर भी जमा लग गया।
तेलीबांधा थाने के पास कांग्रेसी बैठ गए, शहर को हाइवे से जोड़ने वाली इस सड़क पर भी जमा लग गया।

किसानों के विरोध प्रदर्शन को कांग्रेस ने भी अपना समर्थन किया। शहर के से दूरे रसनी टोल नाके पर जारी चक्काजाम के समर्थन में कांग्रेस ने शहर में भी चक्काजाम कर दिया। तेलीबांधा थाने के पास सड़क पर कांग्रेसी नारे लगाते हुए बैठ गए। कृषि कानूनों को वापस लेने और किसानों को सम्मान देने जैसी मांगों के साथ स्थानीय कांग्रेस नेता नारेबाजी करते दिखे। भाटागांव संतोषी नगर हाइवे की सड़क को भी जाम कर दिया गया। यहां भी कांग्रेस का झंडा लिए नेता प्रदर्शन करते रहे।

ट्रकों को रोककर संतोषी नगर के पास कांग्रेस नेता नारे बाजी करने लगे।
ट्रकों को रोककर संतोषी नगर के पास कांग्रेस नेता नारे बाजी करने लगे।
खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें