टिकैत कल छत्तीसगढ़ में:किसान महापंचायत में योगेंद्र यादव, मेधा पाटकर सहित राष्ट्रीय-क्षेत्रीय किसान नेता भी आएंगे, आयोजकों का दावा- 35-40 हजार लोग जुटेंगे

रायपुर4 महीने पहले
किसान महापंचायत का आयोजन राजिम के कृषि उपज मंडी परिसर में किया जा रहा है। पंचायत सुबह 11 बजे शुरू होगी।

छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ 28 सितंबर को राजिम में किसान महापंचायत कर रहा है। इसमें किसान नेता राकेश टिकैत भी आएंगे। आयोजकों का दावा है कि महापंचायत में प्रदेश के 35 से 40 हजार लोग जुटेंगे। राजिम की कृषि उपज मंडी परिसर में 40 हजार लोगों की भोजन व्यवस्था की जा रही है। वहीं, मंडी परिसर के शेड में 40 फीट लंबा और 20 फीट चौड़ा मंच तैयार किया गया है। इस पर राष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्तर के सभी प्रमुख किसान नेता बैठेंगे।

आयोजक मंडल के संयोजक तेजराम विद्रोही ने बताया, किसान महापंचायत की तैयारियां जारी हैं। किसान महापंचायत को संबोधित करने के लिए किसान नेता राकेश टिकैत, डॉ. दर्शनपाल सिंह, योगेंद्र यादव, युद्धवीर सिंह, डॉ. सुनीलम, मेधा पाटेकर, बलदेव सिंह सिरसा, बलवीर सिंह आदि आ रहे हैं। डॉ. सुनीलम, सत्यवान जैसे कुछ नेता रायपुर पहुंच गए हैं। मेधा पाटेकर और योगेंद्र यादव भी शाम तक रायपुर पहुंच जाएंगे। राकेश टिकैत और दूसरे नेता देर रात अथवा मंगलवार की सुबह की उड़ान से रायपुर पहुंचेंगे। वहां से वे लोग राजिम कृषि उपज मंडी परिसर आएंगे।

विद्रोही का दावा है कि इस महापंचायत में छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों से 35 से 40 हजार महिला-पुरुष किसान शामिल होने वाले हैं। इसके लिए राजिम की कृषि उपज मंडी परिसर में व्यवस्था की गई है। आने वाले किसानों के भोजन आदि की भी व्यवस्था यहीं की जा रही है। महापंचायत मंगलवार सुबह 11 बजे से शुरू होगी। उन्होंने कहा, इस महापंचायत से छत्तीसगढ़ के किसान आंदोलन को भी एक नई दिशा मिलेगी। केंद्र सरकार के तीन कृषि संबंधी विवादित कानूनों के खिलाफ इस सम्मेलन की योजना एक महीने पहले बनी थी। प्रमुख किसान नेताओं से सहमति के बाद छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ ने राजिम को इस महापंचायत के लिए चुना।

अगले महीने छत्तीसगढ़ आएंगे राकेश टिकैत:राजिम में 28 सितंबर को किसान महापंचायत, योगेंद्र, दर्शन पाल, मेधा पाटकर और डॉ. सुनीलम का भी आना तय

ऐसा बनाया जा रहा है किसान महापंचायत का मंच।
ऐसा बनाया जा रहा है किसान महापंचायत का मंच।

महापंचायत में प्रस्ताव भी पारित करेंगे किसान

मंगलवार को हो रही इस महापंचायत में किसान एक प्रस्ताव पारित कराने की तैयारी में हैं। इसमें केंद्र सरकार से कृषि संबंधी विवादित कानूनों को वापस लेकर न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी की मांग शामिल होगी। उसके अलावा राज्य सरकार से जुड़े स्थानीय मुद्दों को भी प्रस्ताव में शामिल करने पर जोर है।

पूर्व मंत्री ने किसान आंदोलन को फिर नक्सलियों से जोड़ा:कहा- CM नक्सलवाद खत्म करने आयोजित बैठक में नहीं जाते, माओवादियों के समर्थित आंदोलन को सही बता रहे

पुलिस अधिकारियों ने मंडी परिसर पहुंचकर व्यवस्था का जायजा लिया।
पुलिस अधिकारियों ने मंडी परिसर पहुंचकर व्यवस्था का जायजा लिया।

पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी पहुंचे

किसान महापंचायत में भारी भीड़ की संभावना को देखते हुए प्रशासन भी नजर बनाए हुए है। पुलिस और प्रशासन के स्थानीय अधिकारियों ने मंडी पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा भी लिया है। प्रशासन 10 से 15 हजार लोगों के जुटने के हिसाब से तैयारी कर रहा है। पुलिस के अनुविभागीय अधिकारी संजय ध्रुव ने बताया, सुरक्षा के लिहाज से सभी पॉइंट को चिन्हित कर लिया गया है। व्यापक सुरक्षा इंतजाम किया जा रहा है। सभी एंट्री पॉइंट पर पुलिस के जवान तैनात रहेंगे।

खबरें और भी हैं...