छत्तीसगढ़ में श्रमिकों की हेल्पलाइन:कई प्रदेशों में लॉकडाउन की वापसी से सरकार के कान खड़े, वापसी को आसान बनाने श्रमिक सुविधा केंद्र शुरू

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिछले वर्ष सरकार से प्रदेश में वापस ले आने की गुहार लगाकर थक चुके बहुत से मजदूर परिवार सहित पैदल ही निकल पड़े थे। - Dainik Bhaskar
पिछले वर्ष सरकार से प्रदेश में वापस ले आने की गुहार लगाकर थक चुके बहुत से मजदूर परिवार सहित पैदल ही निकल पड़े थे।
  • श्रम सुविधा केंद्र के जरिये मजदूर मांग सकते हैं मदद
  • 24 घंटे, सातो दिन फोन सुविधा चालू रखने की बात

कोरोना की दूसरी लहर से कई प्रदेशों में लॉकडाउन लौट आया है। इसी के साथ प्रवासी मजदूरों और दूसरे कामगारों के घर वापसी की भी खबर है। इन सूचनाओं ने छत्तीसगढ़ में सरकार के कान खड़े कर दिये हैं। श्रम विभाग ने ऐसी परिस्थितियों से निपटने के लिए श्रम सुविधा केंद्र के नाम से हेल्पलाइन शुरू किया है।

न्यू शांति नगर स्थित श्रम कल्याण मंडल के दफ्तर में इस हेल्पलाइन का सेटअप तैयार किया गया है। बताया जा रहा है कि यहां दो नंबरों के माध्यम से श्रमिकाें की कॉल सुनी जाएगी। यह केंद्र विभिन्न विभागों के संयोजन से श्रमिकों को मदद पहुंचाएगा। श्रमिकों के लिये यह सुविधा 24 घंटे और सातो दिन उपलब्ध होगी। अधिकारियों ने बताया, प्रदेश के भीतर कार्यरत श्रमिकों अथवा अन्य राज्यों या जिलों में काम करने गये प्रवासी श्रमिक के साथ वर्तमान कार्यस्थल पर कोई समस्या है तो मदद मांग सकता है। प्रवासी मजदूर के रेल अथवा बस से छत्तीसगढ़ मे आने के बाद गांव-शहर जाने के लिये वाहन नहीं मिल रहा है तो भी केंद्र से मदद ली जा सकती है। कोरोना से संबंधित किसी समस्या के समाधान के लिये भी हेल्पलाइन की मदद ली जा सकती है।

इन नंबरों से मिलेगी मदद

मोबाइल नंबर 91098-49992

लैंडलाइन नंबर 0771-2443809

पिछली बार हुई थी भारी दिक्कत

पिछले वर्ष लॉकडाउन के दौरान और बाद में मजदूरों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। उनका रोजगार बंद हो गया था। दूसरे प्रदेशों से घर वापसी के रास्ते बंद थे। इधर सरकार तक अपनी बात पहुंचाने का उनके पास कोई जरिया नहीं था। हेल्पलाइन नंबर बहुत बाद में जारी किये गये। भीड़ बढ़ी तो वह सुविधा भी अपर्याप्त साबित हुई।

खबरें और भी हैं...