पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल:एप्रोच रोड के लिए मठ से नहीं मिली जमीन, फिल्टर प्लांट की भूमि पर ही बनी

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ड्रोन फोटो : भूपेश केशरवानी
  • भाठागांव अंडरब्रिज और इससे 500 मीटर आगे दो सड़कों से पहुंचेंगे बस टर्मिनल तक

ठाकुरराम यादव | भाठागांव में 49 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल की एप्रोच रोड के लिए दूधाधारी मठ से नगर निगम को जमीन नहीं मिल पाई। इसके बाद कुछ विकल्पों का अध्ययन करके नगर निगम ने तय किया कि फिल्टर प्लांट के लिए सुरक्षित रखी गई जमीन का उपयोग किया जाए। इस प्लाॅट का कुछ हिस्सा लेकर निगम ने निर्माण शुरू कर दिया है। रिंग रोड से टर्मिनल तक 1.20 किमी की एप्रोच रोड बननी है, जिसमें से आधा तैयार कर ली गई। दो हफ्ते में बची हुई आधी रोड पूरी करके टर्मिनल शुरू करने की तैयारी है।
नगर निगम ने पूर्व विधायक तथा दूधाधारी मठ के महंत रामसुंदर दास से एप्रोच रोड के लिए करीब 5 हजार वर्गफीट जमीन मांगी थी। यह जमीन रावणभाठा बाउंड्रीवाल के भीतर थी। निगम ने इस जमीन के बदले में मठ को मुआवजा ऑफर किया था। महंत ने ट्रस्टियों की बैठक में फैसले का आश्वासन दिया था। बताते हैं कि ट्रस्टियों में सहमति नहीं बन पाई। इसलिए निगम ने सरकारी जमीन पर ही एप्रोच रोड बनाने का फैसला किया। इसके बाद रावणभाठा फिल्टर प्लांट की जमीन लेकर सड़क का काम शुरू कर दिया गया। जानकारों का कहना है कि नई एप्रोच रोड निगम के फिल्टर प्लांट के 150 एमएलडी प्लांट के बेहद नजदीक है। मठ की जमीन मिलती तो प्लांट और सड़क के बीच गैप ज्यादा होता। आशंका ये है कि बसों की आवाजाही से कहीं शहर के पानी को शुद्ध करने की प्रक्रिया पर असर न पड़े।

इनसाइड स्टोरी : अफसरों के गलत प्लान के कारण बनानी पड़ी रोड
बस टर्मिनल की प्लानिंग में अफसरों से बड़ी गलती यह हुई कि भाठागांव अंडरब्रिज को ध्यान रखे बिना अफसरों ने यहां पर बस टर्मिनल का प्लान फाइनल कर दिया। यह अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल है। यहां अाने वाली बसें डबल डेकर जैसी भी हो सकती हैं। इस टर्मिनल में बसों को प्रवेश के लिए एक ही रास्ता था, भाठागांव चौक के पास। यहां अंडरब्रिज बनना शुरू हुआ, तब तक अफसरों ने इस दिक्कत पर ध्यान नहीं दिया। टर्मिनल तैयार होने के बाद जब ट्रायल के लिए बसों को चलाया गया तो दिक्कत समझ में आई कि अंडरब्रिज से बसों का गुजरना, टर्न लेना काफी मुश्किल होगा और ट्रैफिक जाम होता रहेगा। इसीलिए बाद में सूडा और निगम ने मिलकर एप्रोच रोड का प्लान किया।

कुछ फायदा, कुछ परेशानी भी
नई एप्रोच रोड बस टर्मिनल के पीछे से कनेक्ट होगी और रिंग रोड पर निकलेगी, इस तरह एग्जिट रोड होगी। इस एप्रोच रोड से रिंग रोड पर आने वाली बसें पचपेड़ी नाका, तेलीबांधा होते हुए मंदिरहसौद की तरफ निकलेंगी, शहर के भीतर नहीं अा पाएंगी। हालांकि डिवाइडर के राइट साइड में होने की वजह से पचपेड़ी नाका की ओर से आने वाली बसें यहां से प्रवेश नहीं कर सकेंगी। ये बसें भाठागांव अंडरब्रिज से होकर मेन गेट होकर बस टर्मिनल तक पहुंचेंगी। टाटीबंध से आने वाली बसें अंडरब्रिज के पास लेफ्ट टर्न लेकर टर्मिनल जाएंगी। थोड़ी परेशानी यही हो सकती है।

"सड़क के लिए हमने मठ से जमीन लेने का काफी प्रयास किया, लेकिन यह संभव नहीं हो पाया। इसलिए हम अब अपनी जमीन पर रोड तैयार कर रहे हैं। फिल्टर प्लांट का थोड़ा सा हिस्सा लिया गया है। सड़क तैयार होते ही बस टर्मिनल भी शुरू हो जाएगा।"
-एजाज ढेबर, महापौर रायपुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें