फर्जी दस्तावेज बनाकर बेची जमीन:मृतक के नाम से पावर ऑफ अटर्नी बनाकर बेची लाभांडी की जमीन, 10 आरोपी गिरफ्तार

रायपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राजधानी में एक बार फिर से जमीन फर्जीवाड़ा का मामला सामने आया है। तेलीबांधा पुलिस ने गलत तरीके से जमीन बेचने के मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की मुताबिक झारखंड में रहने वाले काशी प्रसाद चौधरी की लाभांडी में 10440 वर्गफीट जमीन है। उनकी मृत्यु 19 अप्रैल 2021 को हो गई। उनका मृत्यु प्रमाण पत्र कानपुर नगर निगम से जारी किया गया था।

उनकी मौत के बाद उनके दो बेटों ने जब रायपुर तहसील में नाम परिवर्तन के लिए आवेदन दिया तो पता चला कि 14 सितंबर को 2021 यह जमीन काशी प्रसाद के पॉवर ऑफ अटार्नी से गायत्री नगर की अनिता दीक्षित को बेच दी गई है। बेटों ने अफसरों को बताया कि उनके पिता की मृत्यु तो पांच महीने पहले ही हो गई है। ऐेसे में वे किसी को पावर ऑफ अटर्नी कैसे दे सकते हैं। इसके बाद ही इस पूरा मामले का खुलासा हुआ। इस मामले में तेलीबांधा थाने की पुलिस ने 10 लोगों को एक साथ गिरफ्तार कर लिया है।

जमीन मामले की जांच शुरू की गई तो पता चला कि गुढ़ियारी में रहने वाले शिवदास मानिकपुरी और शिवदास गुप्ता ने फर्जी मुख्तयारनामा बनाकर लाभांडी में स्थित 0.097 हेक्टेयर जमीन अनिता दीक्षिता को 49.50 लाख में बेच दी है। आरोपी राजेंद्र कुमार अग्रवाल भी देवघर झारखंड में ही रहता है। जमीन के असली मालिक का वह पड़ोसी है। उसी ने अवधेश गुप्ता से कहा कि जमीन मालिक की मौत हो गई और उसका कोई वारिस नहीं है। आरोपी और अवधेश रिश्ते में जीजा-साला हैं। पुलिस ने इस मामले की जांच करते हुए 10आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और उनसे 9.99 लाख भी बरामद किए हैं। इस मामले में शिवदास मानिकपुरी, शिवदास गुप्ता, गणेश अग्रवाल, अवधेश गुप्ता, उमेश कुमार यादव, राजेन्द्र कुमार अग्रवाल,जितेन्द्र यादव उर्फ जीतू, अभिषेक कुमार सोनी, गिरीश कुमार वर्मा और योगेश यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है।

खबरें और भी हैं...